प्रतिभा खोज शो है इंडियाज गॉट टैलेंट : धर्मेन्द्र

 प्रेमबाबू शर्मा 


 धर्मेन्द्र की गिनती बालीवुड के उन सुपर स्टारों की जाती हैं जिन्होने भरतीय सिनेमा का एक नई दिशा दी। पंजाब के फगवाडा से मुंमई में अपनी किस्मत आजमाने पहंचें अभिनेता धर्मेन्द को भी अपनी मंजिल को पाने के लिए खासी मेहनत करनी पडी। धर्मेन्द्र अभिनीत पहली फिल्म रेलवे प्लेटफार्म 1955 में रीलिज हुई इस फिल्म में उनको सुनील दत्त व नालिनी जयंत जैसे मंझे कलाकारों के साथ काम करने का मौका मिला । हांलाकि फिल्म में उनका किरदार भले ही छोटा हो,लेकिन बाद में अपने दम पर बतौर हीरो काजल, दिल भी तेरा हम भी तेरे, बॉय फैड, अपराध, शोला और शबनम, सूरत और सीरत…..जैसी फिल्मों काम करने का मौका मिला। हालांकि धर्मेन्द्र ने अपने करियर में 247 फिल्मों में काम किया और समकालीन अभिनेत्रियों में मीना कुमारी,साधना,माला सिन्हा, शर्मिला टैगोर, जया भादुरी, मुमताज, सायराबानो, आशा पारेखए रेखा, जीनत अमान और अनीता राज जैसी हीरोईन के साथ में अपनी जोडी बनाई लेकिन उनकी सबसे लोकप्रिय जोडी हेमा मालिनी के साथ में बनी और उनकी फिल्में भी इतनी हिट हुई । कहते है मुझे राजा,समाधि,राजा जानी,सीता और गीता,चरस,रजिया सुलतान, द बर्निग ट्रैन के बाद तो शोले उनकी सबसे ज्यादा हिट फिल्म रही थी। इसी साल रीलिज फिल्म यमला पगला दीवना में भी उनके काम सराया गया। 75 की उम्र को पार करने के बाद भी धर्मेन्द्र में युवाओं जैसी एनर्जी है। आखिर इसका रहस्य क्या है ? इन दिनों वे कलर चैनल के नये शो इंडियाज गॉट टैलेंट से बतौर जज जुडे हैं। शो के प्रमोशन के लिए विगत दिनों होटल ताजपैलेस में उनसे मिलने का मौका मिला पेश है उसी मुलाकात के चंद अंश: 
फिल्मों से अचानक टीवी की ओर रूझान की कोई खास वजह ?
फिल्मों में तो मैं 1955 से अभिनय कर रहा हॅ । फिल्मों में काम करने का एक अलग ही मजा हैं, लेकिन हर चीज का एक समय होता है। आज टीवी आम परिवारां के घर का हिस्सा बन चुका है, शायद  उसकी लोकप्रिय का भी यही कारण है,और जो चीजें हमें सिनेमा में नही मिलती, वो चीजें अब स्माल स्क्रीन पर देखने को मिल जाती है।

स्माल स्क्रीन पर कलर के ही एक शो इंडियाज गॉट टैलेंट का हिस्सा बननें की कोई खास वजह ?
टीवी पर काम करने के प्रस्ताव तो मुझे काफी समय से मिल रहे थे, किन्तु मैं लीक से हटकर बने शो का हिस्सा बनना चाहता था। जब मेरे पास इस शो का प्रस्ताव आया और मैंने इसका कांसेप्ट सुना तो मुझे अच्छा लगा तभी मैने मन बना लिया कि मैं इस शो का हिस्सा जरूर बनूंगा। वैसे भी हमे वो करना चाहिए, जो करने के लिए हमारी आत्मा कहें।

शो से जुडने से पूर्व क्या आपने इसे देखा है ?
नही, असल में मैं टीवी कम ही देख पाता हॅ। लेकिन जब मुझे जब इंडियाज…. के कथानक के बारे बताया गया तो मेरे दिमाग में उथल पुथल थी कि किस प्रकार का होगा यह शो ? जब मुझे शो की कुछ कडियां दिखायी गयी तो मैं शो का दीवाना हो गया।
आखिर शो में ऐसा क्या था कि इसनें आपको दीवाना कर दिया ?
जैसे कि मैंने आपको बताया कि पहला तो शो का कांसेप्ट, दुसरा इसमें हिस्सा लेने वाली प्रतिभाएं। आप मानोगें नही कि मुझे यकीन ही नही हो पा रहा था कि मंच पर एक ही शो में अलग अलग विधाओं में परिपक्क कलाकार नजर आयेगें। चुंकि अब मैं इस शो का हिस्सा बन चुका हॅू। मेरा प्रयास होगा कि मैं हर प्र्रतिभागी का उत्साह बढाउ ।
लेकिन प्रतिभाओं के चयन करने के लिए बने निर्णायक मंडल के जज किरण खेर, सोनाली ब्रेंदे तो आपसे काफी जुनियर है, ऐसे में कोई भी निर्णय लेने में और उनके और आपके विचारों से टकराव की भी संभावना बन सकती है ?
मुझे ऐसा कही नही लगता , क्योंकि यह एक अलग प्रकार का प्रतिभा खोज शो हैं। वैसे किसी भी प्रतिभा और उसकी कला पर किरणजी और सोनाली के अपने व्यक्तिगत विचार हो सकते है,और होने भी चाहिए क्योंकि सबके सोचने का अलग तरीका है। 
इन दिनों टीवी पर प्रचलित अधिकांश टैलेंट शो कहीं ना कहीं कंन्ट्रोवर्सी में रहते है और उसे टीआरपी का ही एक हिस्सा माना जाता है ?
हो सकता है इस बारे में मुझे कम जानकारी है। लेकिन शो को सुर्खियों में रखना है तो कुछ तो नया करोगें ही ना।

टीवी से जुडने के मायने कि फिल्मों से आपकी बिदाई मानी जाएं ।
ऐसा नही है।अभिनय तो मेरे खून में बसा है । मैं एक फिल्म टेल मी ओ खुदा में काम कर रहा हॅ फिल्म में बेटी ऐशा देओल मेन लीड में है । जबकि बॉबी देओल के साथ में चीयर्स में काम किया हैं।

टेल मी ओ खुदा से तो हेमाजी भी जुडी है?
हॉ। भाई वो फिल्म की निर्देशक है। उनके साथ करते हुए काफी खुशी हुई और सालों पुरानी यादें ताजा हो गई।
चर्चा है कि आप अपनी होम प्रोडेक्शन फिल्म यमला पगला दीवाना के सीक्वल बनाने की योजना कर रहे है?
हॉ, प्रयास है बाकी तो समय ही बतायेगा कि क्या होता है।

Leave a Reply