आजादी की हर लडाई में सिख कौम ने बलिदान दिया है: सरदार कुलदीप सिंह

प्रेमबाबू शर्मा  


अन्ना टीम के स्वामी अग्निवेश, समाजसेवी मेघा पाटकर के साथ दिल्ली के प्रमुख समाजसेवी सरदार कुलदीप सिंह अपने हजारों सहयोगियों के साथ जिसमे सरदार अमरजीत सिंह तिहाड, सरबजीत सिंह आंनद, स.अमर मोहन सिंह सब्बलवाल, बीबी कुलबिंदर, निर्मल सिंह नागी, बीबी प्रबलीन कौर खालसा के साथ रामलीला मैदान मे अनशन पर बैठे। इस मौके पर उन्होंने अरविंद केजरीबाल को सिरोपा भी भेंट किया।

सरदार कुलदीप सिंह ने अनशन पर बैठे लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि जैसे कि आप सब जानते है कि विश्व सर्वोचय तखत श्री अकाल तख्त साहिब जी से अन्ना हजारे द्वारा जनलोकपाल बिल के लिए किये जा रहे आंदोलन को समर्थन दिया जा चुका है। जिस से पूरी सिख कौम अन्ना हजारे के इस अंदोलन में तन, मन, धन से शामिल हो चुकी है। स. आनंद ने कहा कि देश कि आजादी के लिए लडी गई पहली लडाई में देश को फिरंगियों से आजाद करवाने के लिए सबसे अधिक कुर्बानियां व शहीदियां सिख कौम ने दी हैं। आगे भी देश की रक्षा,सांस्कृति और देशवासियों की रक्षा के लिए अगर आज भी शहादद की जरूरत पडती है तो आज भी पहली कुर्बानी सिख कौम से होगी। सिख कौम के लिए यह आजादी की तीसरी लडाई है, क्यांकि सिख कौम ने अमरजेंसी के दौरान स. प्रकाश सिंह बादल की आगुवाही में अकाली मौर्चा व जेल भरो आंदोलन करके देश को अमरजेंसी से आजादी दिलाई और आज सिख कौम, व हर धर्म, हर जाति,व पूरा देश अपना धर्म मजहब जाति पार्टीबाजी से ऊपर उठ कर आज अन्ना हजारे की अगुवाही में देश की आजादी की लडाई लड रहे है और हम, इसमें जरूर कामयाब होगें। देश में जनलोकपाल बिल लागू होगा व भारत माँ भ्रष्टाचार से मुक्त होगी। जहां एक तरह देश के जांबाज सिपाही इस देश के रक्षक ( सुरक्षाबल ) अपने जीवन की अहुति देकर हमारे प्यारे वतन की सीमा पर बाहरी दुश्मनों से देश की रक्षा कर रहे है। वे हम सब को एकजुट होकर देश के अंदरूनी दुश्मनों जैसे भ्रष्टाचार, जमाखोरी, रिश्वतखोरी , काला धन, बेरोजगारी , आंतकवाद व अपराधों से देश को आजादी दिलवाने के लिए एक लंबी लडाई लडनी है और अपने प्यारे वतन को इन अन्दरूनी दुश्मनों से आजादी दिलानी है तो हमे अन्ना हजारे के अंदोलन से जुडना होगा और जनलोकपाल बिल को पारित कराना ही होगा ।
श्री आनंद ने कहा कि आज युवा शक्ति ने बरसों से प्रचलित इस कहावत को झूठा साबित कर दिया है कि युवा शक्ति जोश में होश खो बैठती है। जिस अनुशसित संगठित ढंग व शलिनता के साथ देश की युवाशक्ति श्री अन्ना हजारे के आदोलन में शामिल हो रही है। युवाओं का अनुशासन,सहनशीलता,व शालीनता का प्यार भरा अंदाज देखकर सरकार भी सोचने को मजबूर हो गयी है। आज जहां युवा शक्ति में देश पर मर मिटने का जजबां है,जोश है वही युवा शक्ति का अपने प्यारे वतन व देश की संपति के प्रति प्रेम भी झलक रहा है। आज जहां युवा शक्ति स्वयं देश की संपति को नुकसान नही पहुंचानी चाहती वही दुसरों द्वारा की जा रही किसी भी सजिश को बर्दाश्त नही करना चाहती। 
श्री आनंद ने कहा कि मुझे देश के हर युवा में शहीदेआजम स. भगत सिंह, राजगुरू और सुखदेव नजर आते है तो हर बुजर्ग में चन्द्रशेखर, महात्मा गांधी व अन्ना हजारे नजर आते है व देश की हर महिला में महारानी लक्ष्मीबाई का जोश नजर आता है। मैं भारत माता की इस शाक्ति को सर झुका कर प्रणाम करता हूँ । और सभी देशवासियों से यह अपील करता हूँ कि देश कि एकता, अखंडता, सस्कृति को बचाने के लिए व देश की खुशहाली के लिए देश को भ्रष्टाचार, रिश्वतखोरी व अपराधमुक्त बनाने के लिए देश की युवा शक्ति को आगे आना होगा।

श्री कुलदीप सिंह ने कहा कि हमें भ्रष्टाचारियों से घृणा नही करनी बल्कि भ्रष्टाचार को खत्म करना होगा रिश्वत खोरो से नफरत नही करनी, रिश्वतखोरी को खत्म करना होगा। हमें अपराधियों से नफरत नही करनी, अपराध को खत्म करना होगा। इसलिए जनलोकपाल बिल लाना ही होगा।

Leave a Reply