अच्छा अभिनय ही मेरा मकसद है मिखिल चंदीरमानी


प्रेमबाबू शर्मा 

इंडियाज बेस्ट सिने स्टार्स की खोज़ में’ से बालीवुड में दस्तक देने वाले मिखिल चंदीरमानी के खाते में अनेक फिल्में व सीरीयल दर्ज हो चुके है। इन दिनों वे एक बार फिर से दर्शकों के बीच है सहारा वन टेलीविजन पर प्रसारित शो ‘कहानी चंद्रकाता की’ से । धारावाहिक में वे शिवगढ के राज कुमार की भूमिका को जीवंत कर रहे है। मिखिल चंदीरमानी अपने पात्र गजराज सिंह को लेकर क्या सोचते है सुनते है उनकी ही जुबानी:

मिखिल चंदीरमानी

मुबंई नगरी तक पहुंचने के सफर के बारे में बतायें?

बालीवुड में मैंने फिल्मकार राज कुमार हिरानी के साथ बतौर सहायक ‘लगे रहा मुन्ना भाई’ से शुरू  की। थिएटर भी किया और नामचीन हस्तियां नादिरा बब्बर और सलीम आरिफ की देखरेख में कई थिएटर शो किये। बतौर हीरो फिल्म इट्स ए मैन वर्ल्ड’ में भी काम किया। फिल्म में मेरे आपोजिट मौली गांगुली और स्मिता बंसल है। फिल्म शीघ्र  रिलीज होने वाली है। फिल्म वीर में सेनापति की सषक्त भूमिका की। बोनी कपूर निर्मित निर्देषक अनीस बज्मी की फिल्म ‘इट्स माई लाइफ में भी मै महत्वपूर्ण किरदार निभा रहा हूँ । फिलहाल ‘कहानी चंद्रकाता की’ मेरा लक्ष्य है और मुझे उम्मीद है कि दर्शक गजराज़ सिंह युवा राज कुमार के रूप में एक सशक्त कलाकार की झलक पायेगें।

‘कहानी चंद्रकाता की’ को लेकर क्या कहेगे?
यह एक फैंटसी ड्रामा है जिसमें प्यार , शडयंत्रों एवं रहस्यों के बीच पनपता है। यह भाग्य की विडंबना ही है कि इस प्रेम का बीजारोपण घृणा और शडयंत्रों के जहर में अभिसिंचित पृश्ठभूमि में होता है। छोटे पर्दे पर दिखाया जाने वाला यह श्रेश्ठ फैटेंसी ड्रामा है।

गजराज सिंह किस प्रकार का किरदार है?
यह आम पात्रों से हटकर अपने आप में चैंलेजिंग किरदार है जो महाराज शिवदत के रिश्तेदार  होने के नाते, गजराज सिंह शिवगढ का होने वाले युवराज है है। मैंने भी किरदार के साथ में न्याय करने का प्रयास किया है।

सेट पर काम करके कैसा लगता है?
सेट पर माहौल बड़ा ही रिलैक्सड रहता है। कहीं कोई मारा मारी नही हैं। सब एक साथ मिलकर काम करते है। बीच बीच में हंसी मज़ाक भी चलता रहता है। बहुत अच्छा लग रहा है।

निर्देषक सुनील अग्निहोत्री के बारें में बताये?
बतौर इंसान वो सवेदंनशील  और मधुर स्वभाव के है। एक निर्देशक के रूप में उनमें पहले से ज्यादा परिपक्वता आ गयी है। उनको मालूम है कि दर्शक आज मनोरंजन के साथ आगे एक अच्छी कहानी और प्रोडकसन   का स्तर भी चाहता है। हम सब कलाकार उनका र्स्पोट सिस्टम है और मै दावे के साथ कह सकता हूँ । कि अपनी कला को हम अच्छी तरह से जानते है।


टेलीविजन पर आपको किस तरह के षो और किरदार पंसद है?
मै ऐसे किरदार करना चाहूगा जो धारावाहिक की कहानी का अन्तरंग केन्द्रीय हिस्सा हो। शो की बात है तो अच्दा बैनर, अच्छी कहानी मेरी प्राथमिकता है।

‘कहानी चदं्रकाता की’ के बाद आपने दूसरे धारावाहिकों में काम करने के बारे मे क्या सोचा है?
मुझे ‘फिलहाल इस सीरियल में काम करना पंसद है। अच्छी भूमिका है और अच्छी कहानी है। कई ऑफर है अभी पाकेट में पर मै अभी गजराज सिंह के पात्र को घर घर में मशहूर करना चाहता हूँ ।

Leave a Reply