राष्ट्रीय पर्यावरण जागरूकता अभियान

Social Development Welfare Society (Regd.NGO) द्वारा Indian Environment Society, the Ministry of Forest and Environment, Govt of India के सहयोग एवं Gram Vikas Association (Bagidari Govt. of NCT Delhi) के सहयोग से अध्यक्ष श्री नरेश लाम्बा जी के नेतृत्व में Govt Boys Sr. Sec School Vill Shahabad Mohd. Pur में राष्ट्रीय पर्यावरण जागरूकता अभियान के तहत दिल्ली में वन शेत्र के विकास तथा पेड़ो कि उपयोगिता पर कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसमे मिडिया पार्टनर कि जिम्मेदारी www.dwarkaparichay.com द्वारा की गयी.

संस्था अध्यक्ष जी ने कार्यक्रम कि शुरुआत करते हुए बताया कि वन विभाग के सर्वे के अनुसार वर्ष 1998 में दिल्ली में केवल 3% ही हरित क्षेत्र हुआ करता था और आज यह 20% हो गया हैं. ये सब सरकारी, गैर सरकारी संगठनो, विद्यार्थियों तथा आम नागरिको कि भागीदारी से ही संभव हो सका हैं. किसी भी क्षेत्र में पर्यावरण संतुलन को बनाये रखने के लिए कम से कम 33% हरित क्षेत्र का होना अवश्यक होता हैं. उन्होंने छात्रो को प्रेरित करते हुए कहा कि आप कम से कम एक वर्ष में एक पेड़ जरुर लगे और उसकी देखभाल करे अगर दो वर्ष तक हम पेड़ो कि देखभाल कर देते हैं तो बाद में वह आपने आप ही विकसित होता हैं . 
डॉ भाटी जी ( LLM Environment) ने बच्चो को पेड़ पौधो सम्बंधित सरकारी नियमो के बारे में जानकारी दी. Sh Sunil Ahuja (Eco Incharge) ने बच्चो को पेड़ो के वर्गीकरण एवं देखभाल के तरीको पर परकाश डाला. Sh Shetrpal Ji (Ex EO Education) जी ने बच्चो के साथ पेड़ो कि उपयोगिताओ के बारे में विचार विमर्श किया . Sh Munim Singh (Psychiatrist MSC) ने बच्चो को जानकारी देते हुए कहा कि हमारे जीवन के लिए आवश्यक तीन जरुरी तत्व भोजन, जल तथा वायु तीनो के ही उत्पादक सोर्से पेड़ होते हैं वायु के तो पेड़ सीधे ही उत्पादक हैं जो कि हमारे लिए बेहद अवश्यक हैं. आप आपने आस लगे पेड़ो कि देखभाल करे और इनकी देखभाल को अपनी आदतों में ढाले. एक छौटे पेड़ को आप एक बार देख ले और मन ही मन उसको अपना ले तथा जब भी वहां से निकले उस पेड़ पर नजर जरुर डाले. आप देखना एक दिन आपने आप ही आप उसकी देखभाल करने लगेंगे. इसके बाद बच्चो ने पेड़ो से सम्बंधित प्रशन पूछे जिनका सभी ने बड़े सरलता से उत्तर दिया. अंत में प्रधनाचार्य श्री मनोहरीलाल मीना जी बच्चो से पेड़ लगाने तथा उनकी देखभाल करने का वादा लिया.

Leave a Reply