भोजपुरी भाषा को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल करने की मांग को लेकर 24 एवं 25 मार्च को छठवें विश्व भोजपुरी सम्मेलन का आयोजन

24-25 मार्च को आयोजित होने वाले दो दिवसीय 6 विश्व भोजपुरी सम्मेललन पर पुर्वांचल एकता मंच के सदस्य श्री गोविंद सरस्वती, श्री पंकज सिंह, श्री मुकेश सिंह, श्री शिवजी सिंह , श्री संतोष पटेल दिल्ली में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए।
छाया : सुनील      

पूर्वांचल एकता मंच के द्वारा प्रेस क्लब आफ इंडिया में आज एक प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया। प्रेस वार्ता के दौरान पूर्वांचल एकता मंच के अध्यक्ष श्री शिवजी सिंह ने बताया कि भोजपुरी भाषा को भारतीय संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल करने की मांग को लेकर पूर्वांचल एकता मंच गत वर्षों की भांति इस वर्ष भी विश्व भोजपुरी सम्मेलन का आयोजन कर रहा है।


उन्होंने कहा कि संविधान की आठवीं अनुसूची में 22 भारतीय भाषाओं को शामिल किया गया है। इन भारतीय भाषाओं में बांग्ला, बोडो, डोगरी, गुजराती, हिन्दी, कन्नड, कश्मीरी, कोंकणी, मैथिली, मलयालम, मणिपुरी, मराठी, नेपाली, उडि़या, पंजाबी, संस्कृत, संथाली, सिंधी, तमिल, तेलुगू, उर्दू और असमिया को शामिल किया गया है लेकिन क्या इस बात को नकारा जा सकता है कि राष्ट्र के सांस्कृतिक, सामाजिक एवं शैक्षणिक उत्थान में भोजपुरी भाषा की कोई भूमिका है ही नहीं।

24-25 मार्च को आयोजित होने वाले दो दिवसीय 6 विश्व भोजपुरी सम्मेललन पर पुर्वांचल एकता मंच के सदस्य श्री गोविंद सरस्वती, श्री पंकज सिंह, श्री मुकेश सिंह, श्री शिवजी सिंह , श्री संतोष पटेल व अधिवक्ता पी. एस. सिंह प्रेस क्लब, दिल्ली में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए 
।  छाया : सुनील      

उन्होंने बताया कि इस संदर्भ में पूर्वांचल से जुड़े भोजपुरी भाषा-भाषी, प्रख्यात कलाकार, साहित्यकार, शिक्षाविद्, फि़ल्म निर्देशक, अभिनेता, स्वयंसेवी, नौकरी-पेशा एवं समस्त व्यापारी वर्ग और राजनेताओं को एक मंच पर एकत्रित कर, भोजपुरी भाषा की ख्याति को प्रोत्साहित करने हेतु पूर्वांचल एकता मंच निरंतर प्रयत्नशील है।पूर्वांचल एकता मंच के संयोजक श्री मुकेश सिंह ने कहा कि विगत वर्षों की भांति इस वर्ष भी 6ठवाँ विश्व भोजपुरी सम्मेलन का आयोजन दिनांक 24 एवं 25 मार्च 2012 को द्वारका उपनगर के दादा देव मेला प्रांगण सेक्टर-8, नई दिल्ली में किया जा रहा है। इस सम्मेलन की मुख्य अतिथि लोकसभा अध्यक्ष माननीय श्रीमती मीरा कुमार जी अपने कर कमलों द्वारा सम्मेलन का शुभारंभ दीप प्रज्ज्वलित कर करेंगी।

पूर्वांचल एकता मंच के महासचिव श्री संतोष पटेल ने बताया कि इस सम्मेलन की अध्यक्षता महाबल मिश्रा जी के द्वारा किया जाएगा। इस अवसर पर दिल्ली प्रदेश की मुख्यमंत्री श्रीमती शीला दीक्षित एवं पूर्वांचल के गणमान्य नेतागण श्री रघुवंश प्रसाद सिंह, श्री प्रभुनाथ सिंह, श्री जगदम्बिका पाल, श्री शाहनवाज़ हुसैन, श्री रविशंकर प्रसाद, श्री राजीव प्रताप रूढ़ी, श्री उमाशंकर सिंह, श्री रमाशंकर राजभर, श्री कुशल तिवारी, जेडीयू के अध्यक्ष श्री वशिष्ट नारायण सिंह, मीना सिंह, ओम प्रकाश यादव नीरज शेखर एवं अन्य इस सम्मेलन को सम्बोधित करेंगे। 

पुर्वांचल एकता मंच के श्री पंकज सिंह-मीडिया प्रभारी, संजोयक श्री मुकेश सिंह, अध्यक्ष श्री शिवजी सिंह प्रेस क्लब, दिल्ली में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए। छाया : सुनील 

फि़ल्म जगत के निर्माता-निर्देशक श्री गोविंद सरस्वती ने बताया कि भोजपुरी सिनेमा के 50 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में भोजपुरी फि़ल्म विशेष का भी आयोजन किया जा रहा है, जिसका उद्घाटन मशहूर भोजपुरी फि़ल्म अभिनेता श्री कुणाल सिंह के द्वारा किया जाएगा। इस अवसर पर गायक श्री उदित नारायण, गायिका मालिनी अवस्थी, भोजपुरी गायक भरत शर्मा व गोपाल राय, अखिल भारतीय फि़ल्म कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष एवं फि़ल्म निर्देशक श्री धर्मेश तिवारी जी एवं अन्य कई फि़ल्मी कलाकार उपस्थित होंगे जिन्हें सम्मानित किया जाएगा। भोजपुरी फि़ल्म जगत एवं भोजपुरी भाषा को प्रोत्साहन देने के लिए बालीबुड जगत के सुपरस्टार श्री सुनील सेट्ठी भी उपस्थित होंगे। इन कलाकरों समेत प्रख्यात भोजपुरी साहित्यकार मारीसस से सरिता बुद्धू, त्रिनिडाड से पींगी मोहन एवं अन्य गणमान्य अतिथिगण इस सम्मेलन को सम्बोधित करेंगे। प्रति वर्ष मनाए जाने वाले इस विश्व भोजपुरी सम्मेलन के अवसर पर लाखों की संख्या में लोगों की भारी भीड़ इकट्ठा होती है।

पूर्वांचल एकता मंच समस्त पूर्वांचलवासियों के गौरवशाली इतिहास एवं उनके स्वाभिमान को मुखर स्वर प्रदान करने वाला एक सशक्त संगठन है। देश-विदेश में बसे करोड़ों पूर्वांचलवासियों की अकांक्षा अनुरूप सामाजिक, सांस्कृतिक एवं भाषागत विरासत को संजोने तथा विकास एवं विस्तार की नई ऊँचाइयों तक पहुँचाने के लिए दृढ़ संकल्पित है। अपनी अद्भूत संगठनात्मक क्षमता, रचनात्मक क्रिया-कलाप एवं परस्पर भावनात्मक एकता को सुदृ़ढ़ता प्रदान करने हेतु पूर्वांचल एकता मंच के सदस्य अभिरत प्रयत्नशील हैं।

द्वारका परिचय डेस्क 

One Response

  1. Suman Karn

Leave a Reply