संस्पेस थ्रिलर है छल: भैरवी रायचुरा

प्रेम बाबू शर्मा 

छोटे परदे से प्रसारित शो ‘हम पांच’ के लोकप्रिय पात्र काजल भाई से टीवी की दुनियां में तूफान मचाने वाली भैरवी रायचुरा के काम को अस्तित्व, बालिका वधु, वे रहने वाली महलो की …के अलावा ससुराल गैदाफूल में भी पंसद किया। अनेक सीरियलों में अपनी लुभावनी लुक को लेकर सुर्खियों में रहने वाली भैरवी इन दिनों चर्चा में कलर्स पर प्रसारित धारावाहिक ‘छल शह और मात’ को लेकर। एक अभिनेत्री और निर्मात्री के बारे में भैरवी का क्या नजरिया है। जानते है उनकी ही जुबानी ।


धारावाहिक ‘हम पांच’ का दी एंड  होते ही भैरवी भी टीवी से गायब हो गयी ?
मैं छोटे परदे गायब नही हुई थी, बल्कि कुछ नये प्रोजेक्ट का काम चल रहा था, उनमें व्यस्त थी ।

काजल भाई के किरदार में क्या खास था, कि लोग उस चरित्र को आज तक नही भुला पाये या यूं कहे कि उसके आगे आपके सारे किरदार फीके से जाते है ?
काजल भाई एक अलग प्रकार का पात्र था। जो चुलबुला मस्तीभरा और दर्शको का मनोरंजन करने वाला था। लेकिन इस किरदार की तुलना दुसरे किरदार से करने को मैं बेईमानी समझती हूँ । क्योंकि हर पात्र एक अलग महत्व होता है।

एकता कपूर ने आपको एक पहचान दी।किन्तु इसके बाद में दुबारा रिपीट नही किया ?
यह सच है कि उन्होंने दुबारा नही दोहराया। हो सकता है की मेरे लाइक रोल ही ना निकला हो। लेकिन मैं अन्य धारावाहिको में व्यस्तता के चलते उससे संपर्क भी नही कर पायी थी।

लेकिन ‘अस्तित्व’ सहित कई धारावाहिकों में आपके द्वारा किये काम को लोगों ने खास नोटिस भी नही किया ?
कलाकार की मजबूरी यह होती है कि उसे जो रोल मिलता है उसे निभाना पड़ता है। अस्तित्व के बाद दुर्गेश नंदिनी पराया धन बेटियां में मैंने काम किया, लेकिन मैं अपने रोल से पूरी तरह से सतुष्ट थी और बाद में सीरियल छोड़ दिये। लेकिन मैं अच्छे मौके और पावरफुल रोल की तलाश में थी। जो काम दिनों आप देख रहे है। यह मेरी प्रतिक्षा का ही फल है।

‘बलिका वधु में आपके नये लुक को काफी पंसद किया गया ?
राजस्थानी जमीं पर आधारित बलिका वधु मैं आनंदी की माँ  भगवंती के किरदार में दर्शकों ने मेरे काम को नोटिस किया और शो में एक अलग लुक के लिए कई अवार्ड का सम्मान भी मिला । इससे मुझे अच्छा काम करने की प्रेरणा मिली ।

इन दिनों धारावाहिक ससुराल गैंदा फूल में भी आपके काम को पंसद किया जा रहा है ? जबकि शो के समापन से पूर्व आप एक अन्य शो ‘वो रहने वाली महलों की’ में भी व्यस्त थी समय को कैसे मैनेज करती थी ?
हाँ । यह संयोग की बात है। दरअसल, वो रहने वाली…मे मेरा रोल खत्म होने वाला था तो मैं गैंदा फूल से जुड़ गयी । यह इतफाक की ही बात है कि वो महलो… सीरियल में मेरे रोल को आगे बढ़ा दिया।

लेकिन व्यस्तता के चलते समय मैंनेज करने मे तो मुश्किलें तो आ ही रही थी कभी महलों … के सेट पर तो वहां से काम खत्म होते ही गैंदा फूल …. तो कभी बलिका वधु। मगर अब मैं इस सब की आदी हो चुकी हूँ  और सब समान्य सा लगता है।लेकिन फिलहाल मैं सुसराल गैंदा फूल ही कर रही हूँ ।

आप अपने अभिनीत किरदारों को लेकर क्या सोचती है ?
मैं अपनी अब तक अभिनीत भूमिकाओं को अपनी वास्तविक जिंदगी के करीब समझती हूँ । चूंकि मैं हर रोज अभिनय में व्यस्त रहती 
हूँ  । सो ऐसा लगता है कि मैं अभिनय में ही नये नये क्षेत्रों को ही खोज रही 
हूँ  ।

आप चुनौतियां किस तरह से स्वीकारती है?
मैं चरित्र को समझने की कोशिश करती 
हूँ  । लेखक से मिलती 
हूँ   और स्क्रिप्ट पढती और समझती 
हूँ   और निर्देशक से जानकारी जुटाती 
हूँ  । बाद मे सभी के प्वाइटस लेकर अपने व्यक्तिगत अनुभवो , अपनी सोच का निचोड़ उसमें डालकर उस चरित्र को निभाने का प्रयास करती 
हूँ  ।

अभिनेत्री के अलावा एक निर्मात्री भी है क्या सोचती है अपने इस नये रूप को लेकर ?
अभिनय के 15 साल के अनुभव के बाद  कलर्स टीवी ने ‘छल शह और मात’ शो के निर्माण का मौका दिया है, अच्छा लग रहा है। इसके लिए मैं चैनल को थैक्स दूंगी कि उसने एक नई निर्मात्री को काम करने का मौका दिया। छल में मेरे साथ दुसरी निर्मात्री नंदिता भी है।


छल का कांसेप्ट  क्या है ?
यह एक संस्पेस थ्रिलर है। चैनल पहली बार अपने एक नये के रूप में, छल कहानी के द्वारा दर्शकों के बीच होगा। परी कहानी रहस्य, रोमांच और रोमांच से भरी है।

शो के बारे में और जानकरी दे ?
छल एक ऐसी कहानी है जो आपको सोचने के लिए मजबूर कर देगी और आप सवाले पूछने लगगें कि आप जो देखा है क्या वह सचमुच सत्य है? छल की कहानी में मुख्य तीन किरदार .ऋषि उसकी पत्नी नेहा और कबीर हैं। ऋषि अपनी नवविवाहित पत्नी नेहा को लेकर हनीमून मनाने मंसूरी जाता है। बस यहीं  से कहानी में नाटकीय घटनाओं का दौर शुरू होता है।

बतौर अभिनेत्री आप छल में भी नजर आयेगी ?
व्यस्तता के चलते फिलहाल तो नही, लेकिन बाद में इस बारे में सोच सकती 
हूँ  ।

Leave a Reply