विश्व एड्स दिवस पर एड्स जागरूक्ता रैली निकाली गई

आज दिनांक 01.12.2012 को विश्व एड्स दिवस पर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन बहुत ही भव्य रूप से राजकीय माध्यमिक वरिष्ठ विद्यालय, बिन्दापुर, नई दिल्ली में दिल्ली राज्य एड्स नियंत्रण समिति एवं श्री ज्ञान गंगोत्री विकास संस्था (अखिल भारतीय गैर सरकारी संगठन) के संयुक्त तत्वधान में जागरूक्ता रैली निकाली गई जो महावीर एन्कलेव, मधु विहार, राजापुरी से होकर  वापस स्कूल के प्रागण में नुक्कड़ नाटक का आयोजन किया गया।

 इस कार्यक्रम में हजारों लोगों ने भाग लिया और नुक्कड़ नाटक के माध्यम से एड्स से होने वाली जान लेवा बिमारी से बचाव की विभिन्न प्रकार की जानकारियां उपलब्ध करायी गई। इस कार्यक्रम में डॉ. मीरा कुमारी ने छात्र-छात्राओं के बीच विभिन्न प्रकार की जाचं कर अपना विचार दिया और कहां कि एच.आई.वी. से बचने के लिए केवल एक सुझाव और जागरूक्ता ही मुख्य बिन्दु है और इससे आप अपने आप को बचा सकते है। आगे डॉ. अमरेन्द्र कुमार ने भी अपना उचित सलाह छात्र-छात्राओं को दी। आगे समाजसेवी आर.एन.राय ने कहां कि संस्था के कार्यक्रम से मैं बहुत प्रभावित हुआ और स्कूल में इस तरह का कार्यक्रम पहली बार देखकर मैं भी आज से जन जागरूक्ता अभियान चला कर आम नागरिक को एच.आई.वी. से बचने की सलाह दूँगा। संस्था की उपाध्यक्ष एवं रितु सिंह ने भी अपने-अपने विचार प्रकट किये। कार्यक्रम का संचालन करते हुए संस्था के सचिव दिनेश प्रसाद कुशवाहा ने कहां की आज एच.आई.वी. से ग्रसित लोग अपने आप को खुल कर न बोलने के कारण इस जानलेवा बिमारी के शिकार होते जा रहे है जिससे की दिल्ली में आज 40,000 हजार लोग एच.आई.वी. से ग्रसित है। 
इस अवसर पर संस्था के संस्थापक महासिचव भाई बी.के.सिंह ने दिल्ली एड्स नियंत्रण समिति, दिल्ली सरकार एवं शिक्षा विभाग को भी धन्यवाद दिया कि आज के कार्यक्रम से हजारों छात्र-छात्राओं को एच.आई.वी. जागरूक्ता कार्यक्रम में बढ़-चढ़ कर आयोजन किया गया क्योंकि इस कार्यक्रम के लिए दिल्ली सरकार स्वयं चिन्तित है कि दिल्ली देश की राजधानी है और हर राज्य के लोग दिल्ली में रहते है और एच.आई.वी. जैसी ज्वलनशील बिमारी से ग्रसित है परन्तु लोक-लाज के कारण उपचार के लिए डॉ. के पास उचित सलाह लेना पसंद नहीं करते। इस बिमारी से ग्रसित लोगों को घर परिवार में भी हीन भावना से देखा जाता है। खासकर अन्य राज्यों से आने वाले ट्रक चालक, रिक्शा चालक, रेलवे स्टेशन पर रहने वाले कुली या माइग्रेन्ट मजदूर में इस तरह की बिमारी ज्यादा पाई जाती है। श्री ज्ञान गंगोत्री विकास संस्था एन.जी.ओ. ने कम से कम एक लाख लोगों के बीच जागरूक्ता कार्यक्रम नुक्कड़ नाटक का आयोजन कर चुकी है। जिससे की हर प्रकार के नागरिक संस्था के विचार से सहमत है। और इस तरह का आयोजन करने के लिए अपना प्रस्ताव देते रहते है। 

Leave a Reply