महापुरुषों के व्यक्तित्व एवं कृतित्व को आत्मसात करने की जरुरत – राजकुमार जैन

अखिल भारतीय स्वतंत्र लेखक मंच द्वारा महाकवि बिहारीलाल एवं पं.मदन मोहन मालवीय की स्मृति में मुक्तधारा आडिटोरियम ,गोल मार्किट में सांस्कृतिक कार्यक्रम, सम्मान अर्पण समारोह ,पुस्तक एवं फिल्म सीडी लोकार्पण समारोह का आयोजन किया गया । गोरक्षक संत कुशाल जी महाराज के पावन सान्निध्य में आयोजित इस समारोह की अध्यक्षता राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित ख्यातिलब्ध शिक्षाविद श्री राजकुमार जैन ने की। जबकि विशिष्ठ अतिथि के रूप में आकाशवाणी ,नई दिल्ली के निदेशक डॉ.लक्ष्मी शंकर बाजपेयी, प्रसिद्ध समाजसेवी एवं विचारक इंजीनियर देवेन्द्र कुमार शाक्य ,मेरठ कालेज ऑफ एडवांस टेक्नोलॉजी ,मेरठ के प्राचार्य डॉ.एस पी सिंह एवं पत्रकार श्री योगराज शर्मा आदि उपस्थित रहे ।

इस अवसर पर श्री राजकुमार जैन ने ‘ जाने- अनजाने तेरह काव्य शिल्पियों के विविध स्वर “कविता  कानन ” काव्य संग्रह, धर्म साहित्य सर्व  धर्म ज्ञान ज्योति -बाल्मीकि सन्दर्भ एवं बाल कविता संग्रह चूहा राजा की बारात के विमोचन के साथ ही साथ फिल्म मेवात का टाइगर एवं सेव गर्ल की परिकल्पना पर आधारित शार्ट फिल्म परी की पुकार की म्यूजिक सीडी एवं पोस्टर का भी लोकार्पण किया। अपने संबोधन में श्री राजकुमार जैन ने कहा कि महाकवि बिहारीलाल एवं पं।मदन मोहन मालवीय ने अपने व्यक्तित्व , कृतित्व एवं जनकल्याणकारी कार्यों से समाज को उत्प्रेरित तथा लाभान्वित किया है। हमें उनके जीवन आदर्शों को आत्मसात कर जिस भी क्षेत्र में संलग्न हों निःस्वार्थ भाव से सामाजिक उत्तरदायित्यों का निर्वहन करना चाहिए। श्री जैन ने अखिल भारतीय स्वतंत्र लेखक मंच के सम्मान अर्पण कार्यक्रम की सराहना करते हुए कहा कि वैसे तो एक सच्चा इंसान (समाजसेवी) बिना किसी मान-सम्मान की अभिलाषा के निःस्वार्थ भाव से कार्य करता है ,फिर भी समाज को चाहिए कि विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाली शख्सियतों को सम्मानित करे। इससे और भी लोगों को ऐसे उत्कृष्ट कार्य करने की प्रेरणा मिलती है ।

समारोह के दौरान वरिष्ठ साहित्यकार डॉ।सरोजिनी कुलश्रेष्ठ ,आचार्य सोहनलाल रामरंग ,अंतर्राष्ट्रीय कथाकार आचार्य चंदशेखर शात्री ,वरिष्ठ पत्रकार एवं समाजसेवी श्री एम।अतरहउद्दीन मुन्ने भारती , वरिष्ठ पत्रकार श्री अरुण खरे , फिल्म अभिनेता श्री राकेश राजपूत ,वरिष्ठ चिकित्सक डॉ के एस आनन्द , उद्दमी श्री नवरतन अग्रवाल ,फिल्म निर्माता श्री संदीप आर्य , श्री दीपक शर्मा , फिल्म निर्देशक श्री सत्य प्रकाश शर्मा ,फिल्म प्रोड्यूसर श्री सुभाष चन्द पवार ,प्रशासनिक अधिकारी श्री राजेश चैहान ,वरिष्ठ गजलकार श्री मुसाफिर देहलवी , खोजी पत्रकार श्री अज़ीम मिर्ज़ा , मानवसेवी -लेखिका गीता अग्रवाल (डॉ रामतीर्थ अग्रवाल), प्रसिद्ध गीतकार श्री साहिल सुल्तानपुरी , धर्म प्रचारिका श्रीमती प्रेमा देवी गौनियाल ,युवा लेखिका सुश्री सुरम्या शर्मा ,कवियित्री डॉ नेहा आस , महिला प्रेरणा सुश्री संगीता गुप्ता एवं शिक्षक श्री शिव शंकर बोहरा सहित साहित्य लेखन ,पत्रकारिता ,विज्ञान एवं तकनीक ,वास्तु ,ज्योतिष ,शिक्षा ,चिकित्सा ,पर्यावरण संरक्षण ,उद्योग एवं समाजसेवा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले कई अन्य विभूतियों को भी विभिन्न अलंकरणों से सम्मानित किया गया । समारोह के दौरान आमंत्रित कवियों ने एक से बढ़कर एक कर्णप्रिय काव्यपाठ कर उपस्थित लोगों का मन मोह लिया ।

कार्यक्रम के सफल आयोजन में अखिल भारतीय स्वतंत्र लेखक मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री लक्ष्मण सिंह स्वतंत्र ,महासचिव श्री रामानुज सिंह सुन्दरम ,सचिव श्री मुनमुन प्रसाद श्रीवास्तव ,दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष श्री अशोक गुप्ता ,महासचिव श्री राजेन्द्र शर्मा ,श्री करतार चंद ,सहसचिव डॉ आलोक कुमार विमल ,राजस्थान प्रभारी श्री राजेश गिलडा एवं मीडिया प्रभारी श्री राजू बोहरा सहित सभी सदस्यों की महत्वपूर्ण भूमिका रही ।

Leave a Reply