दर्शको का मनोरंजन ही हमारा मकसद है: राकेश यादव

प्रेमबाबू शर्मा 

मेरे डैड की मारूती,पान सिंह तोमर,खोसला का घोसला और बैंड बाजा बारात जैसी हिट फिल्मों से प्रभावित राकेश यादव भी इन दिनों ‘तेरी चाहत में’ नामक हिन्दी फिल्म के निर्माण में जुटे है। बालीवुड के चर्चित आर्ट डारेक्टर राकेश यादव की पहली फिल्म ‘मैं दीवाना हूँ ’ थी। इसके बाद उन्होंने ‘गबरू गंवार’अडियल जाट,सीलिंग की फिलिंग,दिमाग की दही ,नौचंदी का मेला,फार्म हाऊस, और‘विजय भव’ फिल्मों के अलावा टीवी सीरियल सुरताल के साथ करो धमाल,हम है कमाल के,आशाऐं,आस और म्युजिक अलबम तडपता बा जोबना हमार, खाटू श्याम जी का मेला,कांवड भोले की,ले चल कांवड, उडे गुलाल, मेला,कुडी बिहारन,कब तक तडपईबो से भी जुडे रहे है।

‘तेरी चाहत में’ हास्य के अलावा देश की ज्वलंत समस्याओं पर आधारित फिल्म है राकेश को एक्टर बनने की चाहत ने निर्माता बना दिया । ग्लैमरस की दुनियां उन्हें हमेशा सपनों-सी लगती थी और इसी सपने के पूरा होने की उम्मीद लेकर उन्होंने दिल्ली से मुंबई का सफर तय किया।

यूं तो राकेश का बॉलीवुड का सपना साकार हो चुका है लेकिन अभिनय की चाहत अब भी उनके अंदर जीवित है। यही वजह है कि वे अम्बिका टीवी एंड फिल्मस प्रोडेक्षन हाउस के माध्यम से फिल्मों का निर्माण भी कर रहे है।

राकेश बताते हैं कि अम्बिका टीवी एंड फिल्मस प्रोडेक्षन हाउस ने अनेकों फिल्में, व सीरियलों का निर्माण किया है ये सभी आम जीवन से जुडे ज्वलंत मुददों मसलन सामाजिक रूप से प्रासंगिक नाटक, व्यंग्य, हास्य, प्रेम कहानी, कल्पना को सरोकार करता है। फिल्म में बालीवुड के नये और पुराने कलाकार नजर आएगें। फिल्म ‘तेरी चाहत में’ देखने के बाद में पर्दे पर आप को ऐसा बिल्कुल नहीं लगेगा कि आप एक छोटे बजट वाली फिल्म को देख रहे हैं। यह अच्छा मनोरंजन करने वाली फिल्म साबित होगी। ‘तेरी चाहत में’ की शूटिंग अप्रैल में शुरू होगी और फिल्म के निर्देशक अनुराग व राकेश व संगीत राजेन्द्र प्रसन्ना का है।

Leave a Reply