शिक्षा के बिना जीवन अधूरा: डॉ.किरण बेदी

शिक्षा के बिना व्यक्ति का जीवन अधूरा है। आज के इस अत्याधुनिक युग में शिक्षा एक ऐसा हथियार है जो पूरी जिन्दगी व्यक्ति की रक्षा करती है। यह बातें पूर्व आईपीएस अधिकारी डॉ.किरण बेदी ने रोहिणी स्थित नवज्योति-इग्नू कम्युनिटी कालेज के दूसरे दीक्षांत समारोह के दौरान कही। उन्होंने कहा कि यह अत्यंत हर्ष की बात है कि आज बड़ी संख्या में महिलाएं शिक्षा के लिए आगे आ रही हैं। महिलाओं को उचित शिक्षा प्रदान करने के उद्येश्य से स्थापित नवज्योति कालेज इस दिशा में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। विधायक श्री मनोज शौकीन ने वर्तमान परिपेक्ष में सामुदायिक विद्यालयों की बढ़ती भूमिका का जिक्र करते हुए इस संबंध में अपने हर-संभव सहयोग की बात कही।

अपार इंडिया ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस के चेयरमैन एवं सामाजिक कार्यकर्ता श्री राजकुमार जैन ने कहा कि वर्तमान समय में अशिक्षा एवं बेरोजगारी के चलते युवा आवारागर्दी एवं अपराध की तरफ मुड रहे हैं। ऐसे में नवज्योति-इग्नू कम्युनिटी कालेज उन्हें बेहतर शिक्षा एवं व्यवसायिक प्रशिक्षण प्रदान कर न सिर्फ सामाजिक विकास कर रहा है बल्कि इसके माध्यम से अपराध नियंत्रण के क्षेत्र में भी महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है। नवज्योति कम्युनिटी कालेज की विभिन्न शाखाओं से कंप्यूटर, ब्यूटीशियन, इंग्लिश स्पीकिंग ,पर्सनैलिटी डेवलपमेंट, सिलाई-कढाई सहित कई अन्य सर्टिफिकेट एवं डिप्लोमा कोर्सेस करके निम्न एवं मध्यवर्गीय परिवार के हजारों युवक-युवतियों ने अपना भविष्य उज्जवल बनाया है। श्री राजकुमार जैन ने कहा कि पूर्व आईपीएस अधिकारी डॉ.किरण बेदी के नेतृत्व में गठित नवज्योति इंडिया फाउंडेशन ने बच्चों की शिक्षा, महिला सशक्तिकरण, स्वास्थ्य देखभाल, व्यावसायिक प्रशिक्षण, सुरक्षा, पुनर्वास, ग्रामीण विकास, नशा मुक्ति उपचार और परामर्श तथा पर्यावरण के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। वर्तमान में बाल शिक्षा, कौशल विकास, पारिवार एवं समुदाय परामर्श तथा ग्रामीण विकास कार्यक्रमों के तहत प्रतिदिन करीब दस हजार लोग लाभान्वित हो रहे हैं।


श्री राजकुमार जैन ने कहा कि फाउंडेशन ने उत्तर-पश्चिमी दिल्ली के कराला, बवाना एवं जहांगीरपुरी उप-जिलों के 30 अनाधिकृत एवं पुनर्वास कालोनियों तथा सोहना ब्लॉक, हरियाणा के 30 गांव में 7 लाख से भी अधिक लोगों के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाकर नव उर्जा का संचार किया है। इसके अलावा नवज्योति ने विभिन्न आपराधिक गतिविधियों जैसे छोटी-मोटी चोरियां, भिक्षावृत्ति एवं बालश्रम आदि में संलिप्त करीब 35 हजार बच्चों को इस दलदल से निकालकर उनके जीवन को एक नई दिशा दी है। साथ ही करीब 15 हजार महिलाओं को सशक्त बनाने एवं करीब 15 हजार नशे के आदी लोगों के उपचार, परामर्श एवं पुनर्वास में महती भूमिका निभाई है। इसके अतिरिक्त जल प्रबंधन कार्यक्रम के माध्यम से नवज्योति ने करीब 15 हजार ग्रामीणों की जल समस्या का निराकरण किया है।

Leave a Reply