द्वारका की सामाजिक संस्थाओं का विशेष वृक्षारोपण अभियान

दिनांक २० जुलाई २०१३ को द्वारका की प्रमुख सामाजिक संस्था ‘द्वारका फोरम’ और बुजुर्गों की संस्था ‘सुख दुख के साथी’ ने सम्मिलित रूप से एक वृहत वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया| यह विशेष कार्यक्रम द्वारका सेक्टर-२४ में स्थित श्मशान स्थल पर किया गया, जबकि इस प्रकार के कार्यक्रम आम तौर पर किसी उद्यान या अधिक से अधिक कहीं सड़कों के किनारे किए जाते हैं | द्वारका फोरम के अध्यक्ष श्री सुशील कुमार ने अपने मनोद्गार व्यक्त करते हुए कहा कि यह स्थल वृक्षारोपण के लिए इस भावना से चुना गया कि यहाँ पर लोग शोकाकुल अवस्था में आते हैं | अतः ऐसा प्रयास किया जा रहा है कि उनको बैठने के लिए छायादार वृक्ष मिलें और वातावरण की सुन्दरता एवं स्वच्छता से कुछ सुखद अनुभूति हो | ‘सुख दुख के साथी’ के संयुक्त सचिव प्रेम बिहारी मिश्र ने बताया कि इस श्मशान में भारत की वीर बेटी ‘निर्भया’ का दाह संस्कार किया गया था और यह हम लोगों की ओर से उसको एक छोटी सी श्रद्धान्जली होगी | श्री मिश्र ने भावुक होते हुए खुशी व्यक्त की कि आज घनघोर वर्षा होते हुए भी लोग दूर दूर से आकर इस पुण्य कार्य में सम्मिलित हुए हैं |

कार्यक्रम के संयोजक एवं ‘सुख दुख के साथी’ के समन्वयक कैप्टेन सुखविंदर सिंह मान ने बताया कि यह स्थान कुछ उजाड़ जंगल जैसा दिख रहा था | दक्षिण दिल्ली म्युनिस्पिल कोर्पोरेशन एवं दिल्ली विकास प्राधिकरण उद्यान विभाग के कर्मचारियों ने पिछले दो-तीन दिन में अति प्रसंशनीय कार्य करते हुए आज के इस कार्यक्रम की सुन्दर व्यवस्था की | श्री मान ने अन्य भागीदारों के अतिरिक्त उद्यान विभाग के उप निदेशक श्री यज्ञ दत्त शर्मा का विशेष आभार प्रगट किया | श्री शर्मा एवं उनके सहायक निदेशक श्री राज पाल ने स्वयं सारे कार्य का निरीक्षण किया और आगे भी अपने पूरे सहयोग का आश्वासन दिया | कुल मिलाकर लगभग एक सौ पचास वृक्ष रोपित किए गए जिसमें से ‘पीपल’, ‘बड़’ (वटवृक्ष) और ‘नीम’ जैसे छायादार तथा धार्मिक मान्यता वाले वृक्ष श्मशान स्थल के अन्दर चारों ओर तथा ‘फायकस सिला’ के वृक्ष चारदीवारी के बाहर की ओर लगाए गए| 
इस अत्यंत उत्साहपूर्वक वृक्षारोपण में दोनों मुख्य संस्थाओं के अतिरिक्त इंदिरापुरम(गाज़ियाबाद) से आए जाने माने प्रकृतिवेता डॉ पी.के. दत्ता, ‘एक संघर्ष’ के शोभित चौहान, नसीरपुर के अरुण बनर्जी, ‘साँझ सवेरा’ के डॉ कौशिक, ‘बी’ ब्लॉक सेक्टर २३/ए द्वारका की प्राइवेट कोलोनी के गहलोत बन्धु, पोचनपुर के सक्रिय प्रकृतिवादी श्री दीवान सिंह और ‘इंडियन एज्युकेशनल एंड कल्चरल सोसाइटी’ के अध्यक्ष रामदास व महासचिव सुनील कुमार सहित लगभग पचास सामाजिक कार्यकर्ताओं ने बढ़ चढ़ कर भाग लिया | श्री रामदास ने बताया यह स्थल उनकी संस्था को संचालन के लिए एक वर्ष पूर्व दिया गया था और आज उन्हें अपना एक सुखद स्वप्न फलीभूत होता हुआ दिख रहा है | द्वारका फोरम के अध्यक्ष श्री सुशील कुमार और सुख दुःख के साथी के अध्यक्ष श्री विजय शंकर सिंह ने इन सभी की भागीदारी के लिए धन्यवाद एवं आभार प्रकट किया एवं महासचिव शशिकांत कपूर ने बताया कि अगली बार उनका प्रयत्न होगा कि कुछ फूलों वाले तथा अन्य सजावट वाले पौधे भी यहाँ लगाए जाएँ | दोनों संस्थाओं ने आशा व्यक्त की कि आगे भी उनको इसी प्रकार सभी का सहयोग मिलता रहेगा|
अंत में, द्वारका फोरम के श्री एस.के. मलिक ने प्रस्ताव रखा कि हम लोगों को इस इलाके में स्थित मुस्लिम और ईसाई बंधुओं की कब्रगाहों के संचालकों से सम्पर्क करके उन स्थानों पर भी इसी प्रकार के कार्यक्रम आयोजित करना चाहिए| सभी उपस्थित लोगों ने प्रस्ताव का पूरे मन से स्वागत किया| कार्यक्रम का समापन द्वारका फोरम की ओर से पहले सभी श्रमिकों एवं तत्पश्चात अन्य सभी उपस्थित लोगों को सम्मानपूर्वक स्वल्पाहार के साथ सौहार्दपूर्ण वातावरण में इस संकल्प के साथ हुआ के सभी लोग अपने अपने ढंग और सुविधा से रोपित किए गए वृक्षों के पालन पोषण एवं रक्षा का पूरा उत्तरदायित्व निभाएंगे और किसी वृक्ष को नष्ट नहीं होने देंगे| स्थल के पंडितजी और उनके परिवार का उत्साह एवं सहयोग प्रशंसनीय था|

Leave a Reply