अखिल भारतीय कवि सम्मेल्लन आयोजित

यूनाइटेड अपार्टमेंट, सेक्टर-४, द्वारका में महाराष्ट्र मित्र मंडल के तत्त्वाधान में अखिल भारतीय कवि सम्मेल्लन का आयोजन हुआ. उक्त कवि सम्मेल्लन में वरिष्ठतम गीतकार श्री बाल स्वरुप राही की पंक्तियाँ “जहाँ शमा की जगह दिल जलाए जाते हैं, वहां बड़े ही अदब से हम बुलाए जाते हैं.” के बोल से समस्त उपस्थित लगभग ३०० श्रोताओं ने खूब तालियाँ बजाई.

इसी दौरान गीतकार श्री दिनेश रघुवंशी जी ने कुछ मर्म्श्पर्शी व् राजनितिक स्थितियों पर कविताएँ प्रस्तुत की. श्री महेन्द्र शर्मा ने अपनी हरियाणावी अंदाज में हास्य कविताएँ, श्री शम्भू शिखर ने भी हँसाने गुदगुदाने वाली रचनाएँ, श्री मदन मार्तण्ड ने वीर रस तथा श्री रमेश गंगेले ने भी वीर रस की कवितायेँ पेश की.

कवि सम्मेल्लन की संजोयक व् मंच संचालक तथा अंतरार्ष्ट्रीय ख्याति प्राप्त कवियत्री डॉक्टर कीर्ति काले ने वीर रस की कवितायेँ व् प्रेम पर गीत प्रस्तुत कर खूब वाह-वाही लूटी.

Leave a Reply