बदलते जमाने में वैकल्पिक दवाइयों और स्वस्थ रहने की महत्ता: रविन्द्र सी भंडारी

प्रेमबाबू शर्म

लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने के मकसद से हेविटेड सेंटर में एक सेमीनार ‘इंपॉर्टेंस ऑफ अलटरनेट मेडिसिन एंड हीलिंग इन दिस चेंजिंग एरा’ (बदलते जमाने में वैकल्पिक दवाइयों और स्वस्थ करने की महत्ता) का आयोजन हुआ। इस मौके पर रविन्द्र सी भंडारी, डॉ. केके अग्रवाल, डॉ. एसपीएस बक्शी, डॉ.वंदना शिवा, रेकी हीलर डॉ. एन के शर्मा, पी सिंह, जेडएम एलआईसी, मीनाक्षी दत्त, सोनिया बजाज और उमेश कुमार ने अपने विचार रखे। इस अवसर पर डॉ वरुण कत्याल, गीतिका सोनी, डॉ. कविता राज और डॉ. रचना को बिल्ड इंडिया अवार्ड्स 2014 से सम्मानित किया गया। सेमीनार गैर सरकारी संगठन भारत निर्माण ने बिग ड्रीम्स फाउंडेशन, बिल्ड इंडिया फाउंडेशंस और मिस्टीक इंडिया एक्जीबिशन के सहयोग से किया गया। 

डॉ. केके अग्रवाल ने कहा कि “ बदलते जमाने में वैकल्पिक दवाइयों और स्वस्थ करने की महत्ता का महत्व बताया और कहा कि जीवनशैली में बदलाव के साथ आप आयुर्वेद का सहारा ले सकते हैं और ग्लोबल वार्मिंग के प्रभावों से सफलतापूर्वक निजात पा सकते हैं।” बदलते जमाने में वैकल्पिक दवाइयों और स्वस्थ करने की महत्ता के बारे में भी बताया। होम्योपैथी विशेषज्ञ डॉ. एसपीएस बख्शी ने कहा कि बदलते मौसम और उससे पनपती बीमारियां सेे निजात पाने में होम्योपैथी दवाइयां काफी प्रभावी सिद्व हो रही हैं। रेकी हीलर, डॉ. एनके शर्मा एनर्जी हीलिंग और चक्र बैलेंसिंग में विश्वास करते हैं। डॉ. वंदना शिवा ने कहा कि ऑर्गेनिक खाद्य पदार्थ और योग से आपके शरीर के प्रतिरक्षण में सहायता मिलती है और आप तमाम बाधाओं से मुकाबला कर सकते हैं।

Leave a Reply