मुसाफिर हूँ यारों

मौत का कुआँ (देशभक्तों से प्रेरणा मिलती है- मोहम्मद रईस)


कल रात नौचंदी मेले में मोहब्बत रईस और सलमान की टीम ने खडकी हुलिया वाली मोटर साईकल व् मारुती-८०० से मौत के कुए से मशहूर जोखिम भरी ड्राइविंग का हैरतंगेज करतब दिखाकर सैकड़ों दर्शकों की दिल धड़कने के साथ-साथ १५ मिनट में सबका दिल जित लिया. बचपन में देखी सर्कस में देखे करतब फिर से ताज़ा हो गए.
मौत के कुँए में मोटर बाइक व् मारुती कार से जान की बाजी दाव पर लगाते हुए करतब दिखाते हुए जांबाज. (नौचंदी मेले की रोंगटे खड़े कर देने वाली हैरतंगेज प्रस्तुति) इन फोटो को ध्यान से देखिये ये प्लेयिंग रिंक के अन्दर से लिए हुए है दर्शक दीर्घा का भी नजारा स्पस्ट दिखाया दे रहा है. इन्हें रात्रि ८ बजे से रात्रि 1 बजे तक १५-१५ मिनट की जोखिम भरी रेस से दर्शकों का मनोरंजन करने के लिए अनुभव के आधार पर ५०० रुपए से लेकर १००० रुपए रोज का मेहताना मिलता है. भले ही आम आदमी के लिए यह वास्तव में बेहद जोखिम भरे हो लेकिन उक्त टीम के वरिष्ठतम करतब बाज मोहम्मद रईस को अब बिलकुल भी डर नहीं लगता है. रईस का मानना है कि जब हमारे नौजवान साथी देश की रक्षा करने के लिए अपनी जान का परवाह भी नहीं करते हैं और देश के इन्ही देशभक्तों से प्रेरणा लेकर वे भी अपने जोखिम भरे करतबों को ख़ुशी-ख़ुशी पेश करने में अत्याधिक तसल्ली मिलती है. खुदा उनका खासतौर पर ख्याल रखते हैं.

(News & Photo :S.S. Dogra)

Leave a Reply