प्रदूषणमुक्त वातारण बनाना ही मकसद


प्रेमबाबू शर्मा  

प्रदूषणमुक्त वातारण बनाने के मकसद से रियल ऐस्टेट डैवलपमेंट कंपनी ‘बया वीवर’ ने सौर ऊर्जा चालित वाहन टुक-टुक ’तेजस’ को ओखला पक्षी अभयारण्य में बया वीवर के चीफ बर्ड अमित मावी ने टुक-टुक को झंडा दिखा कर रवाना किया। ताकि स्वच्छ ऊर्जा के इस काॅन्सेप्ट को प्रचारित किया जा सके।इस मौके पर 500 से ज्यादा लोग मौजूद थे। बया वीवर ने भारत के सबसे पहले सौर ऊर्जा चालित वाहन टुक-टुक ’तेजस’ के रचयिता नवीन राबेली का साथ हाथ मिलाया है । संगठन का मकसद स्वच्छ वातावरण के अलावा प्राकृतिक संसाधनों से युवा पीढ़ी को जागरुक करना है। सौर ऊर्जा से भरपूर बैटरी से चलने वाला यह वाहन बया वीवर की इस सोच के अनुरूप है कि चिरस्थायी पर्यावरण को बढ़ावा दिया जाए।

इस मौके पर बया वीवर लिमिटेड के चीफ बर्ड श्री अमित मावी ने कहा, ’’नवीन और बया वीवर दोनों एक ही विचारधारा के समर्थक हैं कि लोगों को अभिनव और पर्यावरण के अनुकूल उत्पादों से सशक्त किया जाए, जिनका वे आजीवन आनंद ले सकें। हमें खुशी है कि हमने भावी पीढ़ियों के लिए संवेहनीयता और स्वच्छ ऊर्जा की विरासत रचने व उसे बढ़ावा देने की पहल की है। हम जो भी अच्छा काम कर रहे हैं हमें उसका प्रसार करना चाहिए। इसी ध्येय के साथ हम टुक-टुक को और इसके पीछेे मौजूद नेक विचार को प्रोत्साहित कर रहे हैं। इस पहल ने जनता का समर्थन जुटाया है, इसलिए निश्चित रूप से यह आविष्कार एक ट्रैंडसैटर साबित होगा। यह प्रशंसनीय रचना नवीनता और रचनात्मकता की प्रक्रिया के लिए प्रेरक का काम करेगी।’’

नवीन राबेली ने कहा।बया वीवर का प्रयास रहेगा जनता को साथ मिलकर काम करने की जरूरत व अनिवार्यता, समझदारी से काम करने और सबसे अहम बेहतर भविष्य के लिए साधन निर्मित करने के लिए रचनात्मक ढंग से कार्य करने के बारे में श्ेिाक्षित करना।

Leave a Reply