राष्ट्र-समाज के विकास के लिए महिलाओं का सशक्तिकरण बेहद जरूरी: श्रीमती संगीता जेटली

पंजाब केसरी के संस्थापक अमर शहीद लाला जगत नारायण जी की पुण्य स्मृति में स्वदेशी जागरण फाउंडेशन के तत्वावधान एवं भारत विकास परिषद, शालीमार बाग शाखा के सौजन्य से चैपाल द्वारा सिंघलपुर, शालीमार बाग में लघु ऋण वितरण समारोह का आयोजन किया गया। इस दौरान 250 परिवारों को लघु ऋण सहायता प्रदान की गयी। 
इस अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि वरिष्ठ समाजसेवी एवं केंद्रीय वित्त एवं रक्षा मंत्री श्री अरुण जेटली की धर्मपत्नी श्रीमती संगीता जेटली एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में एमडीएच के चेयरमैन महाशय धर्मपाल, पूर्व मुख्यमंत्री मदनलाल खुराना की धर्मपत्नी श्रीमती राज खुराना, विधायक श्री राम किशन सिंघल एवं श्री सुभाष सचदेवा, दिल्ली हिंदुस्तानी साड़ी मर्केंटाइल एसोसिएशन के प्रधान श्री अजय कुमार गोयंका, भारत विकास परिषद के संरक्षक एवं पूर्व महापौर श्री महेश चन्द्र शर्मा, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री भूपेंद्र मोहन भंडारी, राष्ट्रीय संयोजक श्री राजकुमार जैन, निगम पार्षद श्री चांदीराम चावला, श्री गुलाब सिंह राठौर, श्री भारत भूषण मदान एवं श्रीमती ममता नागपाल आदि उपस्थित रहे।

करनाल, हरियाणा से सांसद श्री अश्विनी कुमार के सान्निध्य में आयोजित इस समारोह की अध्यक्षता वरिष्ठ नागरिक केसरी क्लब की चेयरपर्सन श्रीमती किरण चोपड़ा ने की। कार्यक्रम के स्वागताध्यक्ष शक्तिभोग फूड लिमिटेड के सीएमडी श्री केके कुमार एवं संयोजन भारत लोक शिक्षा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं चैपाल के निदेशक श्री नरेश जैन ने की। 
इस अवसर पर अपने संबोधन में श्रीमती जेटली ने कहा कि राष्ट्र-समाज के विकास के लिए महिलाओँ का सशक्तिकरण होना बेहद जरूरी है। जब तक महिलाओं का विकास नहीं होगा तब तक कोई भी राष्ट्र, समाज या परिवार विकास की राह पर नहीं चल सकता। उन्होंने कहा कि चैपाल एक ऐसी संस्था है जो महिलाओँ को दान नहीँ बल्कि उन्हें लघु ऋण प्रदान कर उनमेँ आत्मविश्वास की भावना को बढाती है। इसी ऋण के कारण ही महिलाओं में स्वाभिमान से अपना जीवन व्यतीत करने की भावना जागृत होती है। उन्होंने कहा कि अमर शहीद लाला जगत नारायण जी भी सदैव समाज सेवा, जन कल्याण व महिलाओं एवं बुजुर्गों के विकास के कार्यों को सर्वश्रेष्ठ समझा करते थे। वहीं करनाल लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद व पंजाब केसरी दिल्ली के स्थानीय संपादक अश्विनी कुमार चोपडा ने कहा कि चैपाल एक ऐसी सस्था है जो मैं नहीं बल्कि सर्वजन हिताय- सर्वजन सुखाय में विश्वास रखती है। लाला जी भी सदैव इसी सिद्धांत पर चलते थे।

चैपाल निदेशक भोलानाथ विज ने चैपाल की प्रस्तावना देते हुए बताया कि चैपाल पिछले तीन वर्षों से महिलाओं  को लघु ऋण सहायता उपलब्ध करवाती आई है। इस कार्यक्रम में चैपाल ने 250 महिलाओँ को 10-10 हजार रुपए की लघु ऋण सहायता दी है। अब तक चैपाल कुल 9050 परिवारों को आर्थिक सहायता दे चुकी है। कार्यक्रम के आयोजन में चैपाल के निदेशक श्री रवि बंसल, श्री वीके जैन, एडवोकेट हरिओम गुप्ता, श्री विकेश सेठी एवं एकता मिशन के अध्यक्ष श्री पवन मोंगा, श्री राजीव मुखी आदि की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

Leave a Reply