आदर्श रामलीला

नीलम शर्मा 
अध्यक्ष- दीप ज्योति एन.जी.ओ.

कालान्तर से भारत में मर्यादा पुरषोत्तम राम की भव्य लीलाओं का मंचन अलग अलग स्थानों पर अलग रूप में होता चला आ रहा है.

यह सर्वविदित है कि जब जब संसार में पाप का प्रभाव अत्याधिक बढ़ जाता है तब भगवान स्वयं अवतार के रूप में प्रकट होते हैं तथा समस्त संसार को पाप मुक्त कराते हैं.

सतयुग में राक्षसों के आंतक से ग्रसित इस धरती को भय मुक्त कराने के लिए भगवान विष्णु मर्यादा पुरषोत्तम राम के रूप में अवतरित हुए.

अयोध्या के राजा दशरथ के घर राजकुमार के रूप में जन्म लिया तथा अपनी माया के सहयोग से भिन्न भिन्न लीलाओं का प्रदर्शन किया. रावण के साथ युद्ध कर समस्त राक्षस जाती का संहार किया तथा इस पृथ्वी को भय मुक्त किया.

द्वारका पिछले चार वर्षों पूर्व तक इस आयोजन से अछूती थी. माननीय श्री राजेश गहलोत जी के अथक प्रयासों से तथा उनकी धर्म में आस्था के करण वर्ष २०१२ में द्वारका सेक्टर-१० में मर्यादा पुरषोत्तम भगवान श्री राम की लीला का भव्य आयोजन किया. द्वारका वासियों को पहले अन्य स्थानों पर जाकर इन लीलाओं का अवलोकन करना पड़ता था किन्तु पिछले चार वर्षो से द्वारका तथा आसपास के इलाकों के लाखों निवासियों को भी रामलीला का अवलोकन का सौभाग्य प्राप्त हो रहा है. हमारी आने वाली पीढ़ी जो इन संस्कारों को भूलने के पथ पर अग्रसर थी, उन्हें अपने संस्कार ग्रहण करने में मदद मिलेगी.

श्री रामलीला का भव्य आयोजन, बढे ही सुचारू ढंग से व्यवस्थित तथा काफी बड़े पैमाने पर आयोजित किया जाता है. आयोजन के अंतिम दिन प्रतिभाशाली रंगकर्मियों एवं समाज के प्रतिशिठित लोगों का सम्मान किया जाता है. समस्त द्वारकावासी श्री राजेश गहलोत जी के बहुत आभारी हैं. मैं नीलम शर्मा एवं दीप ज्योति एन.जी.ओ. के सभी सदस्यों की ओर से श्री राजेश गहलोत जी को बधाई एवं आगामी आयोजन के लिए हार्दिक शुभकामनाएँ देती हूँ.

Leave a Reply