अमेरिकी राष्ट्रपति के रात्रिभोज में स्वामी चिदानन्द भी शामिल रहे

अमेरिकी राष्ट्रपति श्री बराक ओबामा द्वारा भारत के प्रधानमन्त्री श्री नरेन्द्र मोदी के सम्मान में दिए गए रात्रिभोज में तीर्थनगरी के प्रख्यात सन्त स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने भी भागीदारी की। भारतीय समयानुसार आज प्रातः 4.30 बजे वाशिंगटन के ह्वाईट हाउस में आयोजित सहभोज में परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष श्री मुनि जी महाराज भी सम्मिलित हुए। प्रधानमन्त्री मोदी से हुई भेंट में स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने उन्हें तीर्थनगरी ऋषिकेश आने का निमन्त्रण दिया। इस अवसर पर परमार्थ निकेतन प्रतिनिधि साध्वी भगवती सरस्वती भी मौजूद थीं।

परमार्थ निकेतन के प्रवक्ता राम महेश मिश्र ने यह जानकारी देते हुए बताया कि श्री बराक ओबामा द्वारा दिए गए रात्रिभोज में शामिल पाँच सौ लोगों में गंगा एक्शन परिवार के प्रणेता स्वामी चिदानन्द सरस्वती भी थे। भारत की विदेश मन्त्री श्रीमती सुषमा स्वराज, अनेकों राजनयिकों, राजदूतों, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार, उद्योगपतियों, सीईओ तथा अमेरिकी सीनेटर्स इत्यादि की उपस्थिति में सम्पन्न सहभोज के दौरान श्री स्वामी जी की मुलाकात भारतीय प्रधानमन्त्री व अमेरिकी राष्ट्रपति से हुई। श्री नरेन्द्र मोदी ने भारतवर्ष के सांस्कृतिक राजदूत के रूप में स्वामी चिदानन्द सरस्वती द्वारा भारत सहित दुनिया के अनेकों देशों में किए जा रहे सेवा कार्यों की सराहना की। ऋषिकेश की गंगा आरती के विश्वविख्यात बनने की सराहना करते हुए उन्होंने भारत सरकार के राष्ट्रीय एजेन्डा में गंगा को शामिल किए जाने की बधाई दी। स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी को परमार्थ निकेतन ऋषिकेश पधारने का निमन्त्रण दिया।

Leave a Reply