भारत विकास परिषद् द्वारा गुरुवंदन, छात्र अभिनन्दन समारोह का आयोजन

भारत विकास परिषद दिल्ली प्रदेश उत्तर द्वारा आर्य समाज मंदिर,कमला नगर में गुरुवंदन, छात्र अभिनन्दन समारोह का आयोजन किया गया। इस दौरान परिषद के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष श्री एस के वधवा, उपाध्यक्ष श्री भूपेंद्र मोहन भंडारी,राष्ट्रीय संयोजक (मीडिया) श्री राजकुमार जैन, पूर्व महापौर एवं भाविप दिल्ली प्रदेश उत्तर के मुख्य संरक्षक श्री महेश चंद्र शर्मा, अध्यक्ष श्री संजीव मिगलानी, उत्तरी दिल्ली नगर निगम सिविल लाइंस जोन के चेयरमैन श्री अरविंद गर्ग, भाविप दिल्ली प्रदेश उत्तर के महासचिव श्री नरेंद्र सिंघल एवं गुरुवंदन छात्र अभिनंदन समिति के सह-संयोजक श्री अरुण नरूला आदि की गरिमामयी उपस्थिति में श्रेष्ठ शिक्षकों तथा विशेष उपलब्धि हासिल करने वाले छात्रों को शॉल, प्रतीक चिन्ह एवं प्रमाणपत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर स्कूली बच्चों ने देश भक्ति गीत प्रस्तुत कर सभी का मन मोह लिया।

अपने संबोधन में श्री एस के वधवा ने कहा कि अपने देश में गुरु-शिष्य की समृद्ध परंपरा रही है। हम सभी के जीवन में गुरु का विशेष महत्व है। गुरु अपने शिष्य को उत्तम शिक्षा प्रदान कर राष्ट्र उत्थान में अमूल्य योगदान देने के काबिल बनाता है। शिष्य जब विशेष उपलब्धि अर्जित करता है तो गुरु स्वयं को गौरवान्वित महसूस करता है। श्री महेश चंद्र शर्मा ने कहा कि भारत दो शब्दों से मिलकर बना है। भा यानि ज्ञान और रत मतलब लगा हुआ। अर्थात सदैव ज्ञान की प्राप्ति में लगे रहने वाला देश है भारत। ज्ञान हमें गुरुजन प्रदान करते हैं इसलिए गुरु का स्थान ईश्वर से भी बड़ा बताया गया है।
श्री राजकुमार जैन ने कहा कि प्रतिभा किसी सम्मान की मोहताज नहीं होती। लेकिन सम्मानित किए जाने पर स्वयं उसके अलावा औरों को भी कुछ बेहतर करने की प्रेरणा मिलती है। श्री संजीव मिगलानी ने कहा कि गुरुवंदन, छात्र-अभिनन्दन जैसे कार्यक्रमों से गुरु और शिष्य का रिश्ता और भी प्रगाढ़ होता है। परिषद ऐसे विविध कार्यक्रमों का आयोजन कराती रहती है। समारोह के आयोजन में भाविप कमला नगर शाखा के परामर्शदाता श्री जोगीराम जैन, अध्यक्ष श्री सत्यनारायण गोयल, सचिव श्री शंकर लाल एवं कोषाध्यक्ष श्री राजेंद्र कुमार गुप्ता की अहम भूमिका रही।

Leave a Reply