भाविप दिल्ली प्रदेश उत्तर द्वारा ‘राष्ट्रीय समूहगान प्रतियोगिता’


भारत विकास परिषद्, दिल्ली प्रदेश उत्तर द्वारा टेक्निया हॉल, मधुबन चौक में प्रांत स्तरीय ‘राष्ट्रीय समूहगान प्रतियोगिता’ का आयोजन किया गया, जिसमें विभिन्न स्कूलों के प्रतिभागी बच्चों ने एक से बढ़कर एक देशभक्ति के गीत प्रस्तुत कर बड़ी संख्या में उपस्थित लोगों में राष्ट्रीय चेतना का नव संचार किया।

प्रतियोगिता के दौरान बतौर मुख्य अतिथि भाविप के राष्ट्रीय अतिरिक्त महामंत्री श्री अजय दत्ता एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में राष्ट्रीय समूहगान प्रतियोगिता के सह-संयोजक श्री विनीत गर्ग, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री भूपेंद्र मोहन भंडारी, पूर्व महापौर एवं मुख्य संरक्षक भाविप दिल्ली प्रदेश उत्तर श्री महेश चन्द्र शर्मा, राष्ट्रीय संयोजक (मीडिया) एवं मुख्य परामर्शदाता भाविप दिल्ली प्रदेश उत्तर श्री राजकुमार जैन एवं संरक्षक श्री सत्यानंद आर्य की गरिमामयी उपस्थिति रही। कार्यक्रम की अध्यक्षता भाविप दिल्ली प्रदेश उत्तर के अध्यक्ष श्री संजीव मिगलानी ने की।

अपने संबोधन में श्री अजय दत्ता ने कहा कि अमर शहीदों ने अपने प्राणों की आहुति देकर देश को आजाद कराया। इसी का नतीजा है कि हम खुली हवा में सांस ले रहे हैं। आज देश के लिए मरने की नहीं, बल्कि देश के लिए जीने की जरुरत है। अमर शहीदों के बलिदान से प्रेरणा लेते हुए राष्ट्र की एकता, अखंडता एवं चहुमुंखी विकास के लिए हमें अपने दायित्व एवं कर्तव्यों का ईमानदारी से पालन करना होगा । श्री महेश चन्द्र शर्मा ने कहा कि विश्व जगत के लिए अनुकरणीय रहा भारत पुनः विश्वगुरु बनने के पथ पर अग्रसर है। ज्ञान-विज्ञान के क्षेत्र में दिनों-दिन अर्जित उपलब्धियां इसकी सूचक हैं। हमें देश के प्रति अथाह प्रेम एवं पूर्ण समर्पण की भावना रखनी होगी।

श्री राजकुमार जैन ने कहा कि देशभक्ति के गीत राष्ट्रप्रेम की भावना जाग्रत करते हैं। वर्तमान में पूरा देश करवट बदल रहा है । निः संदेह आने वाला समय भारत का है और राष्ट्रीयता से ओत-प्रोत देश के युवा भारत को विश्वगुरु बनाने के वाहक बनेंगे। श्री संजीव मिगलानी ने सभी अतिथियों का आभार व्यक्त करते हुए बताया कि भारत विकास परिषद् अपने सेवा एवं संस्कार के विभिन्न प्रकल्पों के माध्यम से देश के सर्वांगीण विकास में संलग्न है। संस्कार प्रकल्प के अंतर्गत ‘राष्ट्रीय समूह गान प्रतियोगिता’ देश की भावी पीढ़ी में देश प्रेम की भावना जाग्रत करने का एक सशक्त माध्यम है, जिसमें प्रतिवर्ष देशभर के चार लाख से भी अधिक स्कूली बच्चे भाग लेते हैं। यह प्रतियोगिता तीन स्तरों शाखा, प्रांतीय एवं तत्पश्चात राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होती है। आज की प्रतियोगिता में हिंदी एवं संस्कृत समूहगान में प्रथम स्थान हासिल करने वाली दोनों टीमों का चयन राष्ट्रीय समूहगान प्रतियोगिता के लिए किया गया है।

इससे पूर्व विभिन्न स्कूलों की टीमों के मध्य आयोजित समूहगान प्रतियोगिता में हिंदी में ज्ञान मंदिर पब्लिक स्कूल नारायणा विहार को प्रथम, डीएवी पब्लिक स्कूल, पुष्पांजलि को द्वितीय एवं आरआर गीता पब्लिक स्कूल, सुल्तानपुरी को तृतीय स्थान हासिल हुआ। जबकि संस्कृत में आरआर गीता पब्लिक स्कूल, सुल्तानपुरी, रेमल पब्लिक स्कूल, रोहिणी एवं डीएवी पब्लिक स्कूल,पुष्पांजलि को क्रमशः प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त हुआ। वहीँ लोकगीत में आरआर गीता पब्लिक स्कूल, सुल्तानपुरी ने फिर बाजी मारी और प्रथम स्थान हासिल की, जबकि राजकीय प्रतिभा विद्यालय, किशनगंज को द्वितीय एवं डीएवी पब्लिक स्कूल, पुष्पांजलि को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ।

प्रतियोगिता के आयोजन में भारत विकास परिषद् दिल्ली प्रदेश उत्तर के महासचिव श्री नरेंद्र सिंघल, कोषाध्यक्ष श्री बीबी दीवान, वरिष्ठ उपाध्यक्ष श्री जोगीराम जैन, अतिरिक्त संगठन सचिव श्री हजारीमल गुप्ता, प्रकल्प समिति संयोजक श्री कमल अरोड़ा, सह-संयोजक श्री मोहन चन्द्र पिनानी, सदस्य श्री मदन लाल अवस्थी, श्री वाईएस भंडारी एवं श्री विजय अग्रवाल, प्रशांत विहार शाखा अध्यक्ष श्री सतीश चावला, सचिव श्री विजय कुमार गर्ग एवं कोषाध्यक्ष श्री अशोक कुमार अरोड़ा आदि की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

Leave a Reply