अपार इंडिया कॉलेज में ग्रेजुएशन समारोह का आयोजन

आंखो में जो सपने संजोए थे, उसके पूरे होने की घड़ी आई तो खुशी सातवें आसमान पर थी। कुछ वर्किंग स्टूडेंट को तरक्की की आस थी तो कुछ वूमेन को घर-परिवार संभालने के साथ उच्च शिक्षा अर्जित करने चाह थी। वहीं कुछ स्टूडेंट को अपने नॉलेज लेवल को बढ़ाने की आकांक्षा थी। और जब उनके सपने साकार हुए तो चेहरे चहक उठे। कुछ ऐसा ही नजारा था अपार इंडिया कॉलेज- रोहिणी में आयोजित ग्रेजुएशन समारोह का। जहां मैनेजमेंट एवं आईटी के स्टूडेंट्स को सुनहरे भविष्य के लिए शुभकामना एवं एसएमयू की डिग्री दी गयी। इस मौके पर स्टूडेंट्स ने अपने अनुभव भी साझा किए।

एमबीए के एक स्टूडेंट ने बताया कि उसे जॉब में तरक्की के लिए एमबीए की डिग्री चाहिए थी। उसे डर था कि वह जॉब के साथ अपनी एमबीए की पढ़ाई पूरी कर भी पायेगा या नहीं। लेकिन अपार इंडिया कालेज ने हर कदम पर उसका पूरा साथ दिया। फोन एवं ई-मेल के माध्यम से एजुकेशन कैरकुलम से रिलेटेड इंफॉर्मेशन प्रॉपर उसके पास पहुंचती। इससे कभी लगा ही नहीं कि वह जॉब के साथ पढ़ाई कर रहा है। वीकेंड क्लासेज के अलावा भी जब भी कभी उसे कोई दिक्कत आती फैकल्टी मेम्बर्स पूरा सपोर्ट करते थे। आज वह बेहद खुश है कि उसने अपनी डिग्री कुशलतापूर्वक पूरी की।

एमबीए की ही एक स्टूडेंट ने बताया कि उसका सपना उच्च शिक्षा ग्रहण करना था। लेकिन शादी के बाद उसका जीवन घर-परिवार संभालने की जिम्मेदारी के चलते घर की चारदिवारी में ही सिमट कर रहा गया। लेकिन मन में उम्मीदें बरकरार थी। फिर उसने अपार इंडिया ज्वाइन कर ली। घर-परिवार की जिम्मेदारियां निभाते हुए पढ़ाई करना आसान नहीं था। लेकिन अपार इंडिया के सपोर्टिव फैकल्टी मेम्बर्स एवं स्टाफ ने जैसे इस मुश्किल को भी आसान कर दिया। एक पूरे पारिवारिक माहौल में कैसे उसने अपना कोर्स पूरा कर लिया, पता ही नहीं चला। आज वह इतनी खुश है कि उसे शब्दों में बयां करना मुश्किल है। एमसीए के एक स्टूडेंट ने बताया कि उसके लिए डिग्री की बजाय नॉलेज महत्वपूर्ण था। इसके लिए जहां तक उसने महसूस किया अपार इंडिया से बेहतर कोई संस्थान हो ही नहीं सकता था। यहां से उसने जो नॉलेज गेन की है निः संदेह उसे सफलता के मुकाम तक पहुचने में सहायक होगा।
ग्रेजुएशन समारोह में स्टूडेंट्स को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया तो उनकी खुशी का ठिकाना न रहा। सेरेमनी के दौरान स्टूडेंट्स अपने दोस्तों से फिर मिलने का वादा करते रहे और बीते हुए दिनों की यादों को संजोया। इस दौरान अपार इंडिया के फाउंडर चेयरमैन श्री राजकुमार जैन ने छात्रों को भविष्य में मानवीय जीवन मूल्यों से समझौता न करने और एक कुशल प्रोफेशनल्स के साथ ही एक बेहतर इंसान बनने की प्रेरणा दी। उन्होंने कहा कि गुरु-शिष्य का रिश्ता दीर्घकालिक होता है। प्रत्येक गुरु की यही चाहत होती है कि उसका शिष्य सफलता के शिखर को छुए और राष्ट्र-समाज के उत्थान में अपनी महती भूमिका निभाए। इसीलिए अपार इंडिया कॉलेज अपने छात्रों को जहां उत्कृष्ट शिक्षा प्रदान करता है वहीं उनके सर्वांगीण विकास पर भी विशेष ध्यान देता है।

डायरेक्टर प्रो अपार जैन ने कहा कि मल्टी टास्किंग के इस दौर में प्रोफेशनल डिग्री के साथ एक्स्ट्रा स्किल भी अहम हो गया है। इसे देखते हुए अपार इंडिया कई क्षेत्रों में निः शुल्क जॉब ओरिएंटेड कोर्स भी करवाता है। इनमें फॉरेन लैंग्वेज, कम्युनिकेशन स्किल्स, पर्सनॅलिटी डेवलपमेंट, हार्डवेयर नेटवर्किंग, ऑफिस मैनेजमेंट एवं फाइनेंसियल एकाउंटिंग सहित तमाम कोर्स शामिल हैं। साथ ही समय-समय पर इंडस्ट्रियल विजिट एवं विभिन्न कार्यशालाएं भी आयोजित की जाती हैं। उम्मीद करते हैं कि छात्र इन अनुभवों का बेहतर उपयोग करते हुए जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में अपनी उत्कृष्टता साबित करेंगे। प्रो अपार जैन ने स्टूडेंट्स को उनके सुनहरे भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं एवं आगे बढ़ने के लिए मोटिवेट भी किया।

Leave a Reply