किसानों के मुआवजे को लेकर केजरीवाल कर रहे राजनीति


अशोक कुमार निर्भय 


दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार द्वारा दिल्ली के किसानों की फसलों को बेमौसम बरसात और ओलावृष्टि के लिए केंद्र सरकार से 50 हजार रूपये प्रति एकड़ मुआवजा देने की मांग को, मोहन प्रसाद भारद्वाज अध्यक्ष स्थायी समिति उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने, मुख्य मंत्री द्वारा अपने चुनाव के समय किये गये हवाई वायदों की पोल खुलते देखकर, घडयाली आसूं बहाने का आरोप लगाते हुए कहा है यदि उन्हे किसानों से सहानुभूति़ है तो अब तक उन्होंने दिल्ली सरकार की ओर से मुआवजा देने और बंाटने की घोषणा क्यों नही की ।
Arvind Kejriwal          –            Mohan Bharadwaj
उन्होंने कहा जो व्यक्ति गेंहू और जौं की बाली मे भी अंतर नही कर सकता वह किसानो पर पडी मौंसमी आपदा पर राजनैतिक रोटी सेकने के लिए सार्वजनिक रूप से केंद्र से हजारों करोड़ रूपयें की मांंग कर रहे है। इसके पीछे की मंशा किसानों की सहायता नही परन्तु आम आदमी पार्टी को प्राप्त चंदे की रकम से खर्चे के हिसाब जैसी होगी।

हालाँकि केंद्र सरकार द्वारा किसानो की हुई हानि के लिए कांग्रेस सरकार द्वारा तय 50 प्रतिशत के हानि के आधार को घटा कर 33 प्रतिशत और मुआवजे की राशि को बढ़ा कर डेढ़ गुना प्रति एकड पहले से ही कर दिया है। जिससे की सभी किसानों को बड़ी दरों पर मुआवजा मिल सकेगा, क्योंकि इस बेमौसम वर्षा से लगभग 33 प्रतिशत तो सभी किसानो की फसलों को नुकसान हुआ है।

मोहन भारद्वाज ने यह भी कहा है कि स्थायी समिति उत्तरी दिल्ली नगर निगम द्वारा पारित प्रस्ताव संख्या 364 दिंनाक 04.03.2015 के हवाले से दिल्ली के किसानो की बेमौसमी बरसात से हुए नुकसान के लिए 50 हजार रूपयें प्रति एकड का अनुदान देने के लिए, आदरणीय प्रधान मंत्री से दिंनाक 17.03.2015 को पत्र द्वारा सिफारिश की थी।

Leave a Reply