महाकुम्भ अलग तरह का शो है: केतकी दवे

प्रेम बाबू शर्मा 

टीवी जगत से फिल्मों तक का सफर तय करने वाले अभिनेत्री को गर्व है कि वह एक टीवी कलाकार भी हैं। केतकी दवे बताया, ‘मैं मस्तमौली हूं। मुझे गर्व है कि मैं एक टीवी अभिनेत्री हूं और टीवी उद्योग जगत को मुझ पर गर्व होगा। 

अपनी जबरदस्त भूमिकाओं और बेहतरीन अदाकारी के लिये मशहूर केतकी दवे लाइफ ओके के शो ‘महाकुंभ एक रहस्य एक कहानी’ में पहले कभी न देखे गये अवतार में नजर आ रही है। शो में केतकी अधेड़ थप्पड़िया माई की भूमिका में हैं। जो एक मानसिक समस्या से ग्रस्त हैं। उनका किरदार शो में कुछ और ड्रामा जोड़ने के साथ कुछ हल्के फुल्के पल लायेगा।

केतकी थप्पड़िया माई की भूमिका को लेकर उत्साहित हैं और इसे अनूठा और वित्रित किरदार बताते हुये कहती हैं, ‘‘मैं आमतौर पर ड्रामेटिक और ओवर द टाॅप किरदार निभाने के लिये टाइपकास्ट हो गयी हूं लेकिन थप्पड़िया माई का किरदार मुझे बहुत रोमांचक लगा और मुझे लगा कि मैं इसमें फिट होउंगी। महाकुम्भ एक शानदार शो है और इसकी कहानी बेहतरीन है। थप्पड़िया माई का किरदार महाकुंभ के रहस्य को और गहरा करने के साथ साथ इसे और अधिक उलझाता है। ’’

थप्पड़िया माई की एण्ट्री उस समय हुई जब रूद्र अपने सबसे खराब समय से गुजर रहा है। अपने अक्खड़ स्वभाव के बावजूद रूद्र और थप्पड़िया माई के बीच एक अनूठा रिश्ता बनता हैं।

थप्पड़िया माई की एंट्री कहानी में रोमांच पैदा करता है। केतकी दवे कहती है कि ‘यह कहानी है,कुंभ से निकलने वाले अमृत की। जिसको पाने के लिए नाग और गरूण के बीच एक सघर्ष जारी है,इसके लिए दोनों ही किसी भी स्तर पर जा सकते हैं। मैंने सात गरूणों में एक गरूण के किरदार को निभाया हैं।
गौरततलब है कि एकता कपूर के टीवी सीरियल ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थीं से सुर्खियों में आने वाली केतकी इससे पूर्व में हसरतें,ये दिल क्या कहता है,नच बलिये,कमेडी सर्कस,बिग बाॅस,बहनें,राम मिलाये जोडी,पवित्र रिश्ता जैसे शो में काम कर चुकी हैं। केतकी कहती है कि ‘मैंने तरह के किरदार को जीने का प्रयास किया है।’ 
केतकी ने भी फिल्मों से अपने करियर की शुरुआत 1983 में फिल्म किसी को  ना कहना से की थी। अब छोटे पर्दे से भी जुडी है। केतकी का कहना है कि ‘एक अभिनेत्री के रूप में वह असुरक्षित महूसस नहीं करती और वह प्रतिदिन अखबारों की सुर्खियों में शामिल होना नहीं चाहतीं।’ 

उन्होंने हास्य फिल्मे करने की अपनी इच्छा जताते हुए कहा, ‘मैं जब कुछ नहीं कर रहा होती, तब मैं एक आम इंसान की तरह रहना पसंद करती हूं। मुझे हास्य किरदार ज्यादा पसंद है।

केतकी के मुताबिक, ‘मैं हास्य फिल्में करना चाहती हूं। मुझे पता है कि लोगों को मेरी हास्य उपस्थिति के बारे में पता है। मुझे अपने टीवी दर्शकों का मनोरंजन करना पसंद है। अब मैं हास्य फिल्मे भी करना चाहती हूं। मुझे हास्य फिल्में देखना पसंद है।’

गौरतलब है कि केतकी ने फिल्म ‘अमदनी अठनी खर्चा रूपया’ हास्य किरदार के रूप में अलग पहचान बनायी थीं। किसी से ना कहना फिल्म से बालीवुड में दस्तक देने वाली केतकी दिल,होगी प्यार की जीत,कितने दूर कितने पास,कल हो ना हो,यारां नाल बहारां,लब इन जापान,मनी है,तो हनी है,स्ट्रघाट, हेलो हम लल्लन बोल रहे है, आइ हेट लव स्टोरी जैसी फिल्मों में भी काम कर चुकी है।

Leave a Reply