मस्तमौली अभिनेत्री है रोजलीन

प्रेमबाबू शर्मा

अपने आपको मस्तमौली अभिनेत्री बताते हुए रोजलीन ने कहा कि ‘धमा चैकरी’ और ‘जी लेने दो एक पल’ फिल्मों में भूमिकाएं करके वह खुश हैं। इन दोनों फिल्मों के बारे में उनका मानना है कि इन फिल्मों ने बॉलीवुड में सफल महिला केंद्रित फिल्मों को बढ़ावा दिया है।

जीने लेने दो एक पल में रोजनीन के आपोजित अभिनव कुमार है,इसके अलावा टीनू आनंद ,जरीना वहाब भी हैं।उन्होंने कहा कि हां, मैं एक मस्तमौली अभिनेत्री हूं इसलिए मैंने इन जबर्दस्त मौकों को स्वीकार कर लिया और उन फिल्मों ने नायिका केंद्रित भूमिका वाली फिल्मों के लिए कामयाब रास्ता बनाया।


वह मुंशी प्रेमचंद के एक उपान्यास बन आधारित एक नाटक में काम करने को लेकर काफी चर्चित है। उन्होंने कहा कि मुझे इसका (महिला केंद्रित फिल्में अब पैसा कमा रही है) श्रेय लेना पसंद है…जब कोई यह कहता है तो मैं बहुत विनम्र हो जाती हूं। लेकिन मेर ख्याल से सच्चाई यह है कि सिनेमा वास्तविकता दिखाता है और हमारे आसपास की वास्तविकता यह है कि ज्यादातर महिलाएं अपनी शर्तों पर जीवन जी रही हैं।

Leave a Reply