फिल्मों के चयन में सतर्क रहना जरूरीः देव गौहर

चन्द्रकांत शर्मा

इन दिनों बॉलीवुड में न्यूकमर्स की बल्ले-बल्ले है। अनेक धारावाहिक और बेहिसाब फिल्में। यकीनन, प्रतिशाली कलाकारों को अच्छा प्लेटफॉर्म मिल रहा है। महत्वाकांक्षी और उत्साही युवाओं की एक बड़ी फौज यहां अपने जोशीले तेवर दिखाने के लिए तैयार तो है लेकिन कलाकारों व फिल्मकारों के बीच आपसी तालमेल का अभाव कई बार दुविधा की स्थितियां पैदा कर देता है जैसा कि अभिनेता देव गोहर के साथ हुआ। वह वाटर एंटरटेन्मेंट की फिल्म ‘इबने बतूता’ में अपनी अभिनय प्रतिभा साबित कर चुके हैं और उनके इसी टैलेंट के भरोसे निर्माता गुरदेव अनेजा ने उनके साथ तीन फिल्मों का अनुबंध कर डाला और एक फिल्म कंपलीट करने के बाद दूसरी फिल्म ‘लव जैहाद’ शुरू कर दी। शुरूआती दौर में ही तीन फिल्में मिलना किसी न्यूकमर के लिए उपलब्धि से कम नहीं पर बताया जा रहा है कि अनुबंध के तहत दूसरी फिल्म ‘लव जैहाद’ आधी से ज्यादा शूट होने के बाद अधर में लटक गई है और इसके लिए अभिनेता देव गौहर निर्माता को दोषी ठहरा रहे हैं जिन्हें लगता है कि उनके साथ विश्वासघात हुआ है या कहें कि उनकी एक्टिंग को वेस्ट किया गया है।

देव का कहना है कि फिल्म इंडस्टी में कदम रखते ही कोई भी नया कलाकार खतरों से खेलने लगता है। उन्हें समझ नहीं आता कि किस आधार पर फिल्म का चयन किया जाए। अपनी व्यथा बताते हुए देव कहते हैं कि मुंबई आने पर मुझसे भी कई गलतियां हुईं। गलत फिल्मों का चयन करने से काफी समय खराब हुआ। फिल्म ‘इबने बतूता’ और ‘लव जेहाद’ के निर्माता गुरदेव पर आरोप लगाते हुए देव कहते हैं कि इनके साथ मेरी तीन फिल्मों का कॉन्ट्रेक्ट हुआ था। फिल्म की स्टोरी व कॉन्सेप्ट भले ही अच्छा था लेकिन फिल्ममेकिंग में लेटलतीफी का खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा। फिल्म धीमी गति से बनती रही जिस वजह से उन्हें कई अच्छी फिल्मों से हाथ धोना पड़ा इसलिए फिल्म अभिनेता बनने के इच्छुक युवाओं को मैं यह मैसेज देना चाहता हूं कि फिल्मों का चयन करते समय काफी सतर्क रहें। फिल्म निर्माता या निर्देशक की मार्केट में भले ही अच्छी गुडविल हो, पर यह सुनिश्चित कर लेना भी जरूरी है कि फिल्म समय पर रिलीज हो अन्यथा यह कॉन्ट्रेक्ट सिस्टम फिल्म कॅरियर को चौपट कर सकता है।

उधर, फिल्म के निर्देशक वरूण मिड्ढा निर्माता का बचाव करते हुए कहते हैं कि फिल्म बनाने में कोई लेटलतीफी नहीं हुई। सच्चाई तो यह है कि अभिनेता देव गौहर का वजन बढ़ने से उनका लुक बिगड़ गया था और हमने उनकी बॉडी को कैरेक्टर के अनुसार ही दिखाना था। हो सकता है कि देव ने कान्ट्रेक्ट को तोड़ते हुए कोई दूसरी फिल्म साइन कर ली हो जिस वजह से उन्हें अपना लुक चेंज करना पड़ा है, लेकिन हम अपनी फिल्म के प्रति कोई समझौता नहीं कर सकते इसलिए देव को फिल्म में अपने कैरेक्टर के अनुसार ही ढलना होगा। भले ही इससे फिल्म निर्माण में देरी क्यों न हो जाए।

Leave a Reply