जिंदगी द्वारा अब टर्की के ‘फेरिहा‘ की पेशकश

प्रेमबाबू शर्मा

चैनल जिंदगी की शुुरूआत एक वर्ष पहले दुनिया भर की सर्वश्रेष्ठ कहानियों को भारतीय टेलीविजन पर लाने के वादे के साथ की गई थी। इसकी शुरूआत पाकिस्तान की बेहद प्रशांसित और दिल छू लेने वाली कहानियों के साथ हुई। भारतीय दर्शकों ने हमारे पड़ोसियों की संस्कृति, परंपराओं, भाषा और सबसे महत्वपूर्ण कहानी कहने की सहजता से बहुत जल्द जुड़ाव बना लिया। भारत से भी नये एवं वास्तविक कंटेंट के साथ बेहद प्रशंस हासिल और दिलों को छूने के बाद, जिंदगी एक और देश-टर्की से कहानियों के नये संसार को लाने के लिए तैयार है।

भारतीय टेलीविजन के इतिहास में पहली बार, जिंदगी द्वारा मंगलवार, 15 सितंबर से शाम 7:00 बजे टर्किश ब्लाॅकबस्टर ‘फेरिहा‘ का प्रसारण किया जायेगा। इस शो के बारे में प्रियंका दत्ता-बिजनेस हेड, जिंदगी और एफटीए क्लस्टर ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये कहा, ‘‘टर्किश कंटेंट की पेशकशश् हमारे लिए स्वाभाविक प्रगति है और यह चैनल के लिए हमेशा हमारी योजना का एक हिस्सा था। हमने अपने दर्शकों को दुनिया की श्रेष्ठतम कहानियां पेश करने के वादे के साथ जिं़दगी को श शुुरू किया था। हमने बेहतरीन कंटेंट का चयन किया । भारत में जन प्रासंगिकता वाले फिक्शनश् शोज; रोमांस, प्यार और फैमिली ड्रामा पर केन्द्रित कहानियां। हमने फेरिहा को भारत में टर्किशश् कंटेंट के लिए डेब्यू के तौर पर चुना, शो में हमारे महाद्वीप के लिए अनूठी परंपराओं और संस्कृति की बारीकियों को पेश किया गया है। फेरिहा एक युवा लड़की की कहानी है जोकि उसके लिए अपने परिवार की उम्मीदों तथा समाज के कुलीन वर्ग में फिट होने के लिए अपने सपनों और महत्वाकांक्षाओं के बीच झूल रही है। हमें पूरा भरोसा है कि भारतीय दर्शकों द्वारा न सिर्फ शो को सराहा जायेगा बल्कि वे अपने चरित्रों के साथ इसे चिन्हित करेंगे। इस शो में हमारे ब्रांड सिद्धान्त ‘जोड़े दिलों को‘ का सहजता से संयोजन किया गया है। इसमें विभिन्न संबंधों के सार का समावेश किया गया है फिर चाहे यह फैमिली के साथ हों या फिर हम जिसे प्यार करते हैं।

इस्तांबुल में आधारित ‘फेरिहा‘ – ए टकिश टेल आॅफ लव, एक युवा, खूबसूरत और महत्वाकांक्षी लड़की की कहानी है जोकि एक गरीब परिवार में पैदा हुई है। यह फेरिहा नामक एक लड़की की कहानी है जिसकी महत्वाकांक्षा आसमान को छूना और इस दुनिया में सफलता के उस मुकाम तक पहुंचना है जिसे उसके माता-पिता अपनी हैसियत से बाहर समझते हैं…यानी अमीरों और मशहूरों की दुनिया। फेरिहा के पिता एक चैकीदार और मां हाउसकीपर हैं, लेकिन उसे एक ऐसी संभ्रान्त यूनिवर्सिटी में फुल स्काॅलरशिप मिलती है, जहां शहर के धनवान माता-पिता अपने बच्चों को पूठ बोलती है। फेरिहा का झूठ उसे कहां लेकर जायेगा? क्या वह अपने सपनों को पूरा करने में सक्षम ​​ होगी अथवा भाग्य ने उसके लिए कुछ और ही सोच रखा है?

Leave a Reply