काॅमेडी हंट विजेता बनी रैंडम चिकिबम


प्रेमबाबू शर्मा

नई प्रतिभाओं को आगे बढ़ने के मकसद यूट्यूब ने काॅमेडी दिग्गज और मेंटरों ने तीन महीने तक चलने वाली इस प्रतियोगिता का आगाज किया था। प्रतियोगिता का मकसद ऐसी एक टीम ढूंढना, जो आपको अपने सबसे रचनात्मक और विषिश्ट वीडियो से हर बार हंसने को मजबूर कर दे। जिसमें आॅल इंडिया बकचैद (एआईबी), कन्नन गिल व बिस्वा कल्याण रथ, एसएनजी काॅमेडी, ईस्ट इंडिया काॅमेडी, जोस कोवाको, अभीश मैथ्यू, आदिति मित्तल और षुद्ध देसी एंंिडग्स जैसे काॅमेडी दिग्गज षामिल हैं।

यूट्यूब पर काॅमेडी सितारों की खोज के लिए आयोजित भारत के पहले वेब हंट काॅमेडी हंट का पहला विजेता घोशित किया गया। अजीबोगरीब कार्यों और मुष्किल चुनौतियों से पार पाकर रैंडम चिकिबुम टीम फिनाले में पहुंची और उसने पूरी प्रतियोगिता के दौरान सबसे मजबूत और प्रतिस्पर्धी काॅमेडी ब्रिगेड को अपने हुनर से बेहद प्रभावित किया। करीब तीन महीने तक चली इस प्रतियोगिता में देष भर के 60 से अधिक षहरों से 1578 आवेदन मिले जिसमें 40 प्रतिभागियों को चुना।

इसके बाद यूट्यूब दिग्गजों व काॅमेडी हंट के निर्णायकों ने इन सभी 40 आवेदनों को अच्छी तरह परखा और वीडियो सामग्री की मूलता व रचनात्मकता के आधार पर काॅमेडी करने वालों को चुना। इसके बाद मेंटरों ने बेहद रोमांचक रहे अगले 7 सप्ताह तक इन सभी प्रतिभागियों के सामने कई चुनौतीपूर्ण राउंड पेष किए। और अंत में साप्ताहिक एलिमिनेषन प्रक्रिया के आधार पर वियर्ड कम्युनिकेषंस, टेक 900, फनी ब्राउनीज, फोक्र्ड अप और रैंडम चिकीबम काॅमेडी हंट षीर्श 5 प्रतिभागियों के तौर पर उभरे।

विजेता की घोशणा करते हुए एआईबी ने कहा, ’’जब हमने एआईबी की षुरूआत की थी, तब बहुत से लोग काॅमेडी को अच्छा नहीं मानते थे और काॅमेडी हंट जैसी प्रतियोगिताओं का षुरू होना बहुत अच्छी बात है।
प्रतियोगिता के समापन की घोशणा करते हुए यूट्यूब इंडिया के प्रमुख सत्यनारायण राघवन ने कहा, ’’काॅमेडी हंट रचनात्मकता को प्रेरित करने के लिए आॅनलाइन प्लेटफाॅर्म पर भारत का पहला षो है। नई प्रतिभाओं को सामने लाने और उनमें मौजूद संभावनाओं को यूट्यूब प्लेटफाॅर्म पर दिखाने की अपनी कोषिष के तहत हम काॅमेडी हंट से जुड़े थे। यूट्यूब पर इस प्रतियोगिता को मिली षानदार प्रतिक्रिया देखकर हम बहुत खुष है।

Leave a Reply