World’s Cricket Day


विश्व क्रिकेट दिवस-भारत रत्न सचिन तेंदुलकर जन्मोत्सव को समर्पित

(एस.एस. डोगरा)
Email: ssdogra@journalist.com

सचिन रमेश तेंदुलकर 24 अप्रैल 1973 को मुंबई में जन्मे इस महान क्रिकेटर बल्लेबाज ने क्रिकेट में जितनी लोकप्रियता एवं सम्मान पाया वो किसी से छुपा नहीं है. भारत के इस महान सपूत के जन्म दिन को क्रिकेट की सर्वोच्च अधिकारिक संस्था अंतरार्ष्ट्रीय क्रिकेट परिषद् (आई सी सी ) ने भी विश्व क्रिकेट दिवस घोषित कर अनोखा सम्मान दिया जिसके लिए प्रतेयक भारतीय के लिए गर्व का विषय है. वर्ष 1989 में कराची, पाकिस्तान में अपना पहला टेस्ट मैच से आगाज करने वाले इस बल्लेबाज ने कुल 200 टेस्ट में 51 शतक एवं एकदिवसीय मैचों में 49 शतकों के साथ दोनों को मिलाकर शतकों का शतक लगाते हुए क्रिकेट के इतिहास के एकमात्र बल्लेबाज बन अपना नाम स्वर्ण अक्षरों में लिख डाला. एक दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट में १७ हजार रन एवं टेस्ट क्रिकेट १३००० रन बनने वाले विश्व के पहले बल्लेबाज हैं जिन्होंने अपने लम्बे क्रिकेट कैरियर में उम्दा बल्लेबाजी व बढ़िया खेल भावना से पुरे विश्व के खेल प्रेमियों के दिल जीतकर एक विशेष जगह बनाई है.
 १६ नवम्बर २०१३ को मुंबई में वेस्ट इंडीज के विरुद्ध आखिरी टेस्ट के साथ ही सचिन ने क्रिकेट को अलविदा कह दिया. परन्तु भारत सरकार ने भी उन्हें देश के सबसे बड़े नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित कर एक नया इतिहास रच डाला क्योंकि सचिन भारत के पहले खिलाडी हैं जिन्हें भारत के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया. इतना ही भारत सरकार ने उन्हें भारतीय संसद में विशेष रूप से राज्य सभा का सदस्य मनोनीत कर एवं उनपर डाक टिकट जारी कर उनके देश एवं खेलों में विलक्षण योगदान को सराहने में पहल दिखाई जिसके लिए सचिन सच में हक़दार हैं.
आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग ने सर डॉन ब्रैडमैन के बाद सचिन तेंदुलकर को सर्वकालिक महान बल्लेबाज आंका है। उनका मानना है कि यह मास्टर बल्लेबाज सही मायने में ‘महान’ कहलाने का हकदार है. आस्ट्रेलिया के ही पूर्व कप्तान ग्रेग चैपल ने भी सचिन को ब्रैडमैन से भी महान बताया है। उन्होंने कहा कि अगर बैंटिंग कला है तो सचिन तेंदुलकर पिकासो हैं।ऑस्ट्रेलिया के ज्यादातर लोगों का मानना है कि सचिन तेंदुलकर सर डॉन ब्रैडमैन से बेहतर बल्लेबाज हैं. एक प्रमुख ऑस्ट्रेलियाई अखबार के सर्वे में 84 फीसदी लोगों ने कहा कि, हां, तेंदुलकर अब तक के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं.
क्रिकेट पंडित एवं क्रिकेट प्रेमी सचिन को ही महानत बल्लेबाज मानते हैजिन्होंने अपने लगभग बीस वर्षों के क्रिकेट कैरियर में मैदान पर डटे मास्टर ब्लास्टर ने शतकों के शतक जडे और वो भी कोर्टली वाल्श, एंब्रोस, इमरान खान, वसीम अकरम, ग्लैन मैक्ग्रा, शेन वॉर्न, मुरलीधरन, शोएब अख्तर, ब्रैट ली, इमरान और एलन डोनल्ड जैसे खतरनाक गेंदबाजों की धज्जियाँ उड़ाते हुए.

उन्होंने अपनी बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए अनेक अंतरार्ष्ट्रीय पुरुस्कार भी प्राप्त किए जिनमें वर्ष 1997 में विज्डन क्रिकेटर, वर्ष 2003 क्रिकेट विश्व कप के प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट, 2010 – में पीपुल्स च्वाइस अवार्ड 2010 – विज़डन लीडिंग क्रिकेटर ऑफ द ईयर, 2010 – वर्ष के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर के लिए आईसीसी पुरस्कार, सर गारफील्ड सोबर्स ट्राफी,2010 में ही भारतीय वायु सेना द्वारा मानद ग्रुप कैप्टन की उपाधि, 2011 – बीसीसीआई द्वारा वर्ष के सर्वश्रेष्ठ भारतीय क्रिकेटर, 2011 – कैस्ट्रॉल वर्ष के इंडियन क्रिकेटर, 2012 – विज्डन इंडिया आउटस्टैंडिंग अचीवमेंट पुरस्कार, 2012 – सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (एससीजी) की मानद आजीवन सदस्यता, 2012 – ऑस्ट्रेलिया के आदेश के मानद सदस्य, ऑस्ट्रेलियाई सरकार द्वारा दिए गए सम्मान प्रमुख हैं.
क्रिकेट के इस महानतम खिलाडी ने क्रिकेट की पिच पर तो कई उल्लेखनीय रिकार्ड कायम किए लेकिन भारत रत्न एवं राज्यसभा में मनोनीत सांसद से आज भी उनके अनेकों प्रसंशकों को उम्मीद है कि वे खेल के मैदान से बाहर रहकर भारतीय खेल एवं खिलाडियों के विकास एवं उत्थान विषय में कितना खरे उतर पाएँगें, अभी भी चर्चा का विषय है. हालांकि माननीय प्रधानमंत्री ने उन्हें स्किल इंडिया अभियान का राजदूत बनाया है उन्हें खेल प्रोत्साहन के लिए कुछ विशेष जिम्मेदारी दे दी जाती तो क्रिकेट के अलावा अन्य खेलों का भी उद्धार हो जाता. गौरतलब है कि क्रिकेट के भगवान यानि सचिन महान पर एक फिल्म “सचिन-ए बिलियन ड्रीम्स” भी बन रही हैं. इस फ़िल्म का टीज़र भी बहुत रोमांचक हैं। टीजर में एक ऐसे इंसान को उसी की कहानी सुनाते हुए देखेंगे जो एक शरारती बच्चे से एक हीरो बनकर उभरता है। ख़ुद सचिन तेंदुलकर का भी ये मानना है कि क्रिकेट खेलने से अधिक चुनौतीपूर्ण अभिनय करना है।सचिन – ए बिलियन ड्रीम्स’ का निर्माण रवि भगचंदका ने किया है और इसका निर्देशन जेम्स अर्सकिन ने। 
43वें जन्मदिवस पर क्रिकेट के महारथी मास्टर ब्लास्टर सचिन अब भारत रत्न जैसे सम्मान, राज्य सभा सांसद वाली जिम्मेदारी एवं फ़िल्मी परदे पर अपनी बखूबी पारी खेलने में भी कामयाब होंगें यही उनके प्रसंशकों की ओर से शुभकामना है ताकि विश्व क्रिकेट दिवस पुरे विश्व में धूमधाम से मनाया जा सके.

Leave a Reply