अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर शारीरिक और मानसिक संतुलन में जबरदस्त विश्वास बनाने की तैयारी


अशोक कुमार निर्भय

भागदौड़ की जिंदगी के बीच आज व्यायाम का समय है।योग भारत का दर्शन बन चुका है। पिछले वर्ष योग दिवस को लेकर उत्साह और सहयोग को देखते हुए इस साल माॅल्स भी एक स्वस्थ जीवनशैली को बढ़ावा देने के लिए योग दिवस मनाने जा रहे हैं। दिल्ली के टैगोर गार्डन स्थित प्रीमियम शाॅपिंग, मनोरंजन व मौज मस्ती के स्थल पैसिफिक माॅल ने 21 जून, 2016 को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने की जबरदस्त तैयारी की है। पैसिफिक माॅल में 130 से अधिक राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय ब्रांड मौजूद हैं। इस साल पैसिफिक माॅल ने खानपान एवं स्वस्थ जीवनशैली की सलाह और फिटनेस एवं व्यायाम पर एक सीरीज़ रखी है। ये कार्यशालाएं 2-2 घंटे के विभिन्न सत्रों में आयोजित की जाएंगी जहां व्यायाम, मापदंड और प्रदर्शन के सत्रों के माध्यम से लोगों का मार्गदर्शन किया जाएगा। पैसिफिक माॅल का साथ हर समय उपलब्ध होगा। जिसे शानदार उपकरण एवं फिटनेस ज्ञान उपलब्ध कराने के लिए जाना जाता है। इसके प्रशिक्षक इस पहल को प्रोत्साहन देंगे और साझीदार बनेंगे। इसके लिए पंजीकरण 18 जून, 2016 से दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक और खुला रहेगा। इसमें योग के 2 सत्र होंगे जो सुबह 8 बजे से 10 बजे तक और अपराह्न 3 बजे से शाम 5 बजे तक चलेंगे जहां सभी योग सत्रों के लिए समर्पित योग गुरू होंगे। इस मौके पर, पैसिफिक इंडिया के कार्यकारी निदेशक श्री अभिषेक बंसल ने कहा, श्मेरा शारीरिक और मानसिक संतुलन में जबरदस्त विश्वास है और यह स्वस्थ जीवनशैली और योग के ज़रिए ही हासिल किया जा सकता है क्योंकि इससे शारीरिक एवं मानसिक फुरती बढ़ाने में मदद मिलती है। इस तरह की कार्यशालाओं से एक स्वस्थ जीवनशैली जीने के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाने में मदद मिलती है। साथ ही विशेष अवसरों पर माॅल में आने वाले लोगों की संख्या 10 प्रतिशत तक बढ़ जाती है क्योंकि इस माॅल में दर्शकों के लिए काफी जगह है और इस तरह के कार्यक्रम, अंतरराष्ट्रीय योग दिवस जैसे आयोजन को बढ़ावा देने में एक बड़ी भूमिका निभा सकते हैं। शक्ति योग, अष्ठांग योग उन 10 से अधिक विभिन्न पेशकशों में से एक हैं जो पूरे दिन किए जाएंगे। इसके अलावा, जुंबा, सालसा, एयरोबिक्स, बाॅडी पंप आदि के लिए भी कक्षाएं चलाई जाएंगी। इन सत्रों में मूल योग आसन जैसे शलभासन, पवनमुक्तासन, मक्रासन आदि के बाद 15 मिनट श्वास के अभ्यास कपालभांति और प्राणायाम और छह मिनट ध्यान कराया जाएगा। योग गुरू और प्रशिक्षक नियमिग योग अभ्यास से मानसिक एवं शारीरिक लाभ पर सलाह भी देंगे।

Leave a Reply