ड्रामा क्वीन और सेंसर बोर्ड आमने सामने

-प्रेमबाबू शर्मा


राखी सांमत ने एक बार फिर से नया बखेड़ा खड़ा कर दिया है। इस बार उनका गुस्सा यह कह कर सेंसर बोर्ड पर फूटा है कि वो पोर्नस्टार नहीं हैं ऐसे में सेंसर उनके पीछे  कैंची लेकर क्यों पड़ा हैं। 
दरअसल राखी सांमत की एक फिल्म ‘एक कहानी जूली की’ इस मास 9 सितम्बर को रीलिज हो रहीं है।लेकिन सेंसर  बोर्ड ने कुछ सींन्स पर कैंची चला दी है। राखी सांमत इस बात पर बौखला गई। राखी फिल्म टीम के साथ मीडिया के सामने आई। राखी ने बताया कि सेंसर ने कुछ डाॅयलाग के साथ फिल्म को ए़/यू प्रमाणपत्र दिया था। लेकिन बाद में उन्हीं डाॅगलाग को काटकर ए प्रमाणपत्र दे दिया। जब डाॅगलाग फिल्म के प्रेामो में हो सकते हैं। तो फिल्म में क्यों नहीं ।

राखी ने सेंसरबोर्ड पर गैर कानूनी और भेदभाव पूर्ण तरीके से काम करने का आरोप लगाते हुए कहा ‘मैं कोई पोर्नस्टार नही हॅू। इस फिल्म की लीड एक्टर हॅू,ऐसे में सेंसर बोर्ड पहले से मेरे बारे में कुछ कैसे तय कर लेता हैं कि मेरे फिल्म में होने से बदनामी होगीं। अब राखी और फिल्म ‘एक कहानी जूली की’ के निर्माता चेतना शर्मा और निर्देशक अजीज जी ने  सेंसर  बोर्ड के खिलाफ मौर्चा खोलने फैसला किया हैं और कहा कि वो जल्द ही सेंसर के खिलाफ कानूनी कार्रवाही के लिए प्रक्रिया शुरू करेंगे। सनी से नाराज राखी सामंत से बातचीत की गई। तो उन्होंने बताया कि इस बात को लेकर नाराज हॅू कि हिन्दुस्तानी हीरोईन का पल्लू जरा भी सरक जाता हैं तो टीवी मीडिया और बड़े बड़े लोग भाषाण देना शुरू कर देते हैं। कहते है कि ‘इन्हें शर्म आनी चाहिए। टीवी पर डिवेट शुरू हो जाती हैं कि लक्ष्मण रेखा क्या हैं। लोग भाडे़े का दुपट्टा ओढ़ने के दौड़ना शुरू कर देते है और पोर्नस्टार सनी लियोनी का गोरा जिस्म देखकर हिन्दुस्तान की जनता पागल हो जाती हैं। क्या हमें अंग्रेजों की गुलामी करने की अब भी आदत हैं। अगर सनी हिन्दुस्तानी होती तो ऐसा कभी नही करतीं। वह यहां आकर हिन्दुस्तान का माल लूटना चाहती हैं। इसलिए ऐसा कर रही है। थोड़़ा खून हिन्दुस्तान का होने से काई हिन्दुस्तानी हो जाता हैं।

Leave a Reply