सड़क सुरक्षा की दिशा में होण्डा की पहल

-प्रेमबाबू शर्मा

सड़क सुरक्षा की दिशा कदम बढ़ाते हुए होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इण्डिया प्रा.लि. ने इण्डिया इंटरनेशनल टेªड फेयर में 4000 से अधिक लोगों को सड़क सुरक्षा पर प्रशिक्षण दिया। होण्डा 2 व्हीलर्स ने दिल्ली यातायात पुलिस के सहयोग से नागरिकों को सड़क सुरक्षा के महत्व पर शिक्षित किया। 
भारत में अपनी शुरूआत से ही होण्डा ‘सड़क सुरक्षा प्रोग्राम’ के माध्यम से लोगों को सुरक्षित राइडिंग के लिए प्रोत्साहित कर रही है। कम्पनी ने अपने पैविलियन में सभी आयुवर्गों के आगंतुकों के लिए विभिन्न सड़क सुरक्षा गतिविधियों का आयोजन किया। होण्डा के सेफ्टी इंस्ट्रक्टर्स ने सफलतापूर्वक 1500 से अधिक व्यस्कों एवं 2500 से अधिक बच्चों को प्रशिक्षित किया।

5-6 वर्ष के बच्चों को प्राथमिक गतिविधियों जैसे रोल प्ले, इन्टरैक्टिव रोड सेफ्टी डिजिटल गेम्स के माध्यम से सड़क सुरक्षा पर शिक्षित किया गया। इसे बच्चों के लिए यादगार बनाने के लिए विशेष चित्रकला प्रतियोगिता भी आयोजित की गई और विजेताओं को आकर्षक पुरस्कार जीतने का मौका मिला। पैविलियन में फैमिली फोटो बूथ और विशेष डिजिटल सेल्फी ज़ोन भी थे।

9-12 वर्ष के बच्चों को नियन्त्रित वातावरण में सुरक्षित राइडिंग का महत्व समझाने के लिए पैविलियन में होण्डा सीआरएफ 50 टेªनिंग मोटरसाइकलें भी पेश की गईं। होण्डा ने व्यस्क आगंतुकों के लिए भी कई तरह के सड़क सुरक्षा खेलों का आयोजन किया।

राइडिंग ट्रेनरों ने (जो होण्डा के एक्सक्लुज़िव आॅथोराइज़्ड डीलरशिप्स पर भी मौजूद होते हैं) 16 साल से अधिक उम्र के राइडरों को सड़क के 100 सम्भावी खतरों के बारे में शिक्षित किया। इस तरह के वर्चुअल अनुभव सड़क पर यातायात सम्बन्धी खतरों के बारे में लोगों को सतर्क बनाते हैं, उन्हें सम्भावी खतरों एवं समाधानों के बारे में जानकारी प्रदान करते हैं।

Leave a Reply