अब बारहवीं तक होगी हर बच्चा बन सकता है जीनियस प्रतियोगिता


अब बारहवीं तक होगी हर बच्चा बन सकता है जीनियस प्रतियोगिता
: प्रतियोगिता के मुख्य संयोजक सतीश राज देशवाल ने 11वीं शैक्षिक प्रतियोगिता का शैड्यूल किया जारी
: दसवीं शैक्षिक प्रतियोगिता के स्कूल-स्कूल वितरित किए जाएंगे इनाम

सोनीपत। ग्रामीण प्रतिभा विकास समिति खेडी दमकन एवं साहिल विकलांग सहायतार्थ समिति दिल्ली के मुख्य संयोजक सतीश राज देशवाल ने 11वीं शैक्षिक प्रतियोगिता हर बच्चा बन सकता है जीनियस के शैड्यूल का ऐलान करते हुए बताया कि प्रतियोगिता में अब ग्यारहवीं व बारहवीं कक्षा के बच्चे भी शिरकत कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि 10 नवंबर से ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया शुरू की जाएगी, जिसमें विद्यार्थी अपने स्कूल के माध्यम से ही आवेदन कर सकेंगे।

शनिवार दोपहर एटलस रोड स्थित सागर रेस्टारेंट में पत्रकारों से मुखातिब होते हुए प्रतियोगिता के मुख्य संयोजक सतीश राज देशवाल ने बताया कि ग्रामीण आंचल के विद्यार्थियों को प्रतिस्पर्धात्मक माहौल के मुताबिक तैयार करने तथा उनको आगे बढने की प्रेरणा देने के मकसद से लगातार 11वें वर्ष हर बच्चा बन सकता है जीनियस प्रतियोगिता की तैयारी शुरू की जा रही हैं। 26 जनवरी2017 को होने वाली पहले चरण की परीक्षा के लिए 10 नवंबर से आवेदन प्रक्रिया शुरू करने का उन्होंने ऐलान किया। देशवाल ने बताया कि प्रतियोगिता में इस वर्ष सोनीपत, जींद, पानीपत के साथ-साथ रोहतक को भी शामिल किया गया है इस बार प्रतियोगिता15 खंडों में आयोजित की जाएगी। इसके लिए विद्यार्थी exam.grameenpratibha.com पर अपने स्कूल मुखिया के लॉगिन के बाद ही आवेदन कर सकेंगे। उन्होंने बताया कि प्रतियोगिता बीते वर्ष की भांति दो चरणों में आयोजित की जाएगी। दूसरे चरण में प्रत्येक खंड के प्रत्येक कक्षा के 30 टॉपर विद्यार्थियों को अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करने का अवसर मिलेगा। इस वर्ष प्रतियोगिता में तीसरे से दसवीं की बजाय पांचवीं से बारहवीं कक्षा के विद्यार्थी हिस्सा लेंगे। 

दसवीं शैक्षिक प्रतियोगिता के ईनाम स्कूलों में वितरित करेंगे देशवाल

प्रतियोगिता के मुख्य संयोजक सतीश राज देशवाल ने बताया कि विजेता विद्यार्थियों को हौंसला देने के लिए इस बार उनके स्कूल जाकर सम्मानित किया जाएगा, ताकि अन्य बच्चे भी विजेताओं से प्रेरणा ले सकें। उन्होंने बताया कि दसवीं शैक्षिक प्रतियोगिता में14 खंडों में तीसरी से दसवीं कक्षा के 85 हजार विद्यार्थियों ने परीक्षा दी थी। पहले चरण की परीक्षा के बाद दूसरे चरण की परीक्षा में 6621 प्रतिभाशाली विद्यार्थियों ने शिरकत की थी। उन्होंने बताया कि प्रतियोगिता में पहले स्थान पर रहने वाले 224 बच्चों को टेबलेट, दूसरे स्थान पर रहे 224 विद्यार्थियों को साइकिल, तीसरे स्थान पर रहे 224 विद्यार्थियों का छत का पंखा, चौथे स्थान पर रहे224 विद्यार्थियों को एमरजेंसी लाइट, पांचवें स्थान पर रहे 224 विद्यार्थियों को प्रेस तथा छठे से दसवें स्थान पर रहने वाले विद्यार्थियों को एजुकेशनल किट दी जाएगी। उन्होंने बताया कि सरकारी स्कूलों में दो लेपटाप विजेता राई एवं खरखौदा खंड से तथा एक-एक लेपटाप विजेता सोनीपत ग्रामीण, गोहाना, कथूरा एवं जुलाना खंड से है। वहीं निजी स्कूलों में 2 लेपटाप विजेता सोनीपत ग्रामीण खंड से तथा एक-एक मुंडलाना, सफीदों, खरखौदा, पिल्लुखेडा, गोहाना एवं गन्नौर खंड से है। प्रेस कांफ्रेंस में मुख्य संरक्षकसतीश राज देशवाल, सतपाल अहलावत, एस.एस. डोगरा, अंशुल देशवाल आदि मौजूद रहे।

ऑनलाइन आवेदन व जानकारी के लिए संपर्क करें :- 9250059530, 9250059691

Website: www.exam.grameenpratibha.com

Leave a Reply