हर बच्चा बन सकता है जीनियस के विजेता सम्मानित

सोनीपत | ग्रामीण प्रतिभा विकास समिति खेडी दमकन एवं साहिल विकलांग सहायतार्थ समिति नई दिल्ली के मुख्य संयोजक सतीश राज देशवाल ने कहा है कि हमारे देश की अधिकांश आबादी युवा है। अगर हम अपने युवाओं को क्षमतावान बनाना है तो इसके लिए हमें सामूहिक प्रयास करना होगा। इससे हमारा देश वैश्विक मंच पर बडी ताकत के तौर पर उभरेगा। 
मंगलवार को सोनीपत खंड में दसवीं शैक्षिक प्रतियोगिता हर बच्चा बन सकता है जीनियस के विजेताओं को स्कूल जाकर सम्मानित करने पहुंचे प्रतियोगिता के मुख्य आयोजक सतीश राज देशवाल ने कहा कि पूरे विश्व की निगाहें हमारे देश के युवाओं पर टिकी हुई हैं। 60 प्रतिशत युवाओं वाले भारत देश में भविष्य में ताकत का कैसा सदुपयोग होगा, इसको लेकर विदेशों में चिंता है। आज हमारे ऊपर यह जिम्मेदारी है कि हम मिलजुल कर अपने युवाओं की क्षमता का विकास करें। 

दसवी शैक्षिक प्रतियोगिता हर बच्चा बन सकता है जीनियस के विजेताओ को स्कूल जाकर पुरस्कार वितरण करने पहुंचे प्रतियोगिता के मुख्य आज आयोजक सतीश राज देशवाल ने 4 सरकारी एवं निजी विद्यालयों का दौरा करते हुए खंड स्तर पर प्रथम, द्वितीय, तृतीय एवं सांत्वना पुरस्कार हासिल करने वाले विद्यार्थियों को सम्मानित किया। उन्होंने सोनीपत जिला में प्रथम स्थान पर रहे राजकीय प्राथमिक विद्यालय प्याऊ मनियारी के चौथी कक्षा की छात्रा निकिता को लैपटॉप, तीसरी कक्षा में करिशमा को टेबलेट, 1 छत का पंखा, 4 एजुकेशनल किट, डी लिटिल स्कॉलर स्कूल गोविन्द नगर सोनीपत में छठी कक्षा के नमन को साईकल, 2 एजुकेशनल किट, होली चाइल्ड केयर सीनियर सेकेंडरी स्कूल सोनीपत में छठी कक्षा की तमन्ना को टेबलेट, मालवीय शिक्षा सदन स्कूल सोनीपत में 1 एजुकेशनल किट प्रदान किये गए | 
उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि हर बच्चा बन सकता है जीनियस प्रतियोगिता भी इस दिशा में बढाया गया दूरदर्शी कदम है, जो बीते दस वर्षों से न केवल अपनी सार्थकता को साबित कर रहा है, अपितु युवाओं के लिए प्रेरणा बन चुका है। उन्होंने अभिभावकों से आह्वान किया कि वह अपने बच्चों को अधिक से अधिक संख्या में प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए प्रेरित करें। इस अवसर पर सतीश राज देशवाल, सुनील मलिक, नवीन सरोहा, मंदीप दहिया, अंशुल देशवाल, राजेंदर गौतम आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply