गीत ‘साहिबा’ मिर्जा-साहिबा की अनंत प्रेमगाथा को फिर से रच रहा है: अनुष्का शर्मा

-प्रेमबाबू शर्मा

गीत ‘साहिबा’ मिर्जा-साहिबा की अनंत प्रेमगाथा को फिर से रच रहा है, ये कहना है,फिल्म फिल्लौरी की अभिनेत्री अनुष्का शर्मा का। असल में, इस गाने ने अनुष्का शर्मा पर काफी प्रभाव डाला था। एक लंबे वीडियो संदेश में उन्होंने कहा, ‘साहिबा’ इस फिल्म में मेरा पसंदीदा गाना है। मुझे यह बहुत खास लगता है क्योंकि यह फिल्म की प्रेम कहानी को, जो थोड़ी सी एपिक है, मिर्जा साहिबा के प्रसिद्ध लोकसाहित्य से जोड़ता है। यह गाना दर्शाता है कि प्यार हमेशा एक सा ही रहता है, बस प्यार की अभिव्यक्ति बदल जाती है। इस गीत के बोल इंतजार के बारे में हैं। मुझे ‘तेरे बिन सांस भी कांच सी काटे काटे’ लाइन बेहद पसंद है। मेरे ख्याल से काफी हद तक इस गाने का श्रेय रुमी को जाता है। उसकी आवाज ने इस गाने को एक अलग ही स्तर पर पहुंच दिया।मिर्जा-साहिबा की प्यार की गाथा अनंत है और कई पीढ़ियों से यह प्रेमियों को प्रेरित करती आई है। अनुष्का शर्मा द्वारा अभिनीत और निर्मित आने वाली फिल्म, फिल्लौरी एक गाने ‘साहिबा’ में मिर्जा-साहिबा के प्रेम के प्रसिद्ध लोकसाहित्य को फिर से जिंदा करने जा रही है। अनविता दत्त द्वारा लिखा गया यह गाना रोमी और पवनी पांडे ने गया है जबकि शाश्वत सचदेव ने इसमें संगीत दिया है।

फिल्म फिल्लौरी एक दोस्ताना भूत (अनुष्का शर्मा) के बारे में है, जिसकी प्रेम कहानी एक विशाल पंजाबी शादी की पृष्ठभूमिक में प्रकट होती है। यह गाना, साहिबा, पुराने पंजाबी और सूफी प्रेम गीत के खास अहसास को प्रदर्शित करता है, जिसे मिर्जा और साहिबा द्वारा साझा किए गए एक-तरफा प्यार और इंतजार की कहानी ने और भी मजबूत बनाया है।

अनुष्का शर्मा के साथ, दलजीत दोसांज, सूरज शर्मा और महरीन पीरजादा ने भी फिल्लौरी में काम किया है। इस फिल्म का निर्देशन नवोदित निर्देशक अंशई लाल ने किया है, जबकि लेखक हैं अंविता दत्त। फॉक्स स्टार स्टूडियोज और क्लीन स्लेट फिल्म्स एक साथ फिल्लौरी का निर्माण कर रही हैं। क्लीन हाउस फिल्म अनुष्का शर्मा और उनके भाई करनेश शर्मा के स्वामित्व वाला प्रोडक्शन हाउस है। यह मूवी 24 मार्च को दुनिया भर के थियेटरों में रिलीज होने को तैयार है।

Leave a Reply