रोहित गुंसाई को सम्मानित किया

देहरादून फुटबाल एकेडमी के खिलाडी रोहित गुंसाई ने अन्डर 18 भारतीय लीग में कप्तान की भुमिका में बाइंचुग भुटिया फुटबाल एकेडमी से खेलकर अपनी टीम को नौर्थ जौन से क्वालीफाई कराकर उप्लब्धि प्राप्त की है। देहरादून आने पर रोहित गंुसाई का देहरादून फुटबाल एकेडमी के कार्यलय अपरनथनपुर इन्द्रप्रस्थ कालोनी देहरादून में कोच एंव सदस्यों ने दिंनाक 3 मार्च को सम्मानित किया । रोहित गंसाई ने देहरादून फुटबाल एकेडमी 2013 ज्वाइन की थी जिसके मुख्य कोच वी.एस.रावत से प्रशिक्षण लेकर कई मुकाम हासिल किये रोहित गंुसाई ने शिक्षा केन्द्रीय विधालय आई एम ए से ग्रहण की है प्रेमनगर ,देहरादून निवासी है रोहित ने एस.जी.एफ. आई से 4 बार नेशनल में शानदार खेल का प्रर्दशन किया है और वर्ष 2016 में आयोजित उत्तराखण्ड सुपर लीग में देहरादून कैपीटन रैंजर की टीम से मीडफिल्ड की भुमिका में खेलकर टीम को सेमीफाइनल में पहुचाया था और सभी को अपनी तरफ आर्कशित किया ओैर 5 बार मैंन आफ द मैंच का खिताब जीता 

कोच वी. एस. रावत ने भाइंचुग भुटिया को उसके खेल के बारे में अवगत कराया और भुटिया ने रावत की बात को स्वीकारा और उसको अपनी एकेडमी के लिये चयन किया और कैप्टनशिप की जिम्मेदारी प्रदान की और इस जिम्मेदारी में रोहित गुंसाई खरा उतरा और पुरी टीम को एकजुट कर दिल्ली में आयोजित नौर्थ जौन से पहला मैंच दिल्ली युनाईट एफ.सी. से 7-2 से हारने के बाद कैंप्टन रोहित को कोच वी. एस. रावत ने फोन पर उसकेा कुछ महत्वपुर्ण टीप्स दिये जिसको उसने फुलफील किया और आगे के सारे मैंच जीते जिसमें हिन्दुस्तान एफ सी से 2-1 से जीते, सुदेवा एफ सी से 3-2 से जीते , हिन्दुस्तान एफ सी को 2-1 से जीते, सुदेवा को 1-0 से जीते अंतिम मैंच दिल्ली युनाईटेड से 2-1 से जीत कर नौर्थ जोन से फाइनल राउन्ड के लिये भारतीय लीग के अंतिम 8 में जगह बनाई और फाइनल राउन्ड मार्च के अंत में गोवा में आयोजित होगा ।

कोच रावत ने बताया कि रोहित गुंसाई ने देहरादून फुटबाल एकेडमी की टीम से खेलते हुये एकेडमी को 2013,14,16 आल इंडिया चैलेज कप एंव गढवाल कप मंे खेलकर टीम को विजय दीलाई थी।
रोहित गुंसाई प्रेमनगर, देहरादून निवासी है और उसकी उम्र 17 साल 6 माह है कोच वी.एस. रावत ने भुटिया से बात कि उन्होने रावत को बताया की रोहित एक दीन भारतीय टीम का प्रतिनिधत्व करेगा। और आई एस. एल भी खेलेगा आपकी कोंचिग जाया नही जायेगी।

रोहित गुंसाई को उसके माता पिता एंव कोच वी.एस.रावत ने हमेशा फुटबाल खेलने के लिये प्रेरित किया रोहित अपने माता पिता एंव कोच के योगदान को हमेशा याद रखेगा और उनके सहयोग को जाया नही जाने देगा।आपको बता दे कि रोहित गंुसाई को छोटा भाई शारदुल गंसाई भी फुटबाल खिलाडी है उसको भी वी.एस. रावत प्रशिक्षण दे रहे है उसका भी चयन पीछले वर्ष 2016 में एस.एस.पी.फ. के इंडिया कैंप अन्डर 15 में हुआ था सभी एकेडमी के पधाधिकारीयों ने रोहित एंव कोच को ढेर सारी शुभकामनायें दी एंव उज्जवन भविष्य की कामना की ।

Leave a Reply