चार साल कि बच्ची नैनिका गुप्ता ने 3 डी फोटोग्राफी कर के रचा नया इतिहास

दिल्ली शाहदरा में रहने वाली चार साल कि बच्ची नैनिका गुप्ता जो की सबसे काम उम्र की फोटोग्राफर है, एक और करिश्मा कर दिखाया। 3 डी फोटोग्राफी जो की काफी उलझा हुआ सब्जेक्ट में से मन जाता है इसे बहुत खूबी से नैनिका ने शूट किया। 3 डी तस्वीर के भी कई प्रकार के होते है, नैनिका ने जो 3 डी तस्वीर शूट किया है उसे लाल/स्यान रंग का चश्मा पहनकर देखा जाता है, तभी उसमे 3 डी जैसा प्रभाव देखा जाता है। देखने से ऐसा प्रतीत होता है के मानो फोटो में जो कुछ भी है वह बहार निकल के आ जायेगा। नैनिका के माता -पिता (सीमा गुप्ता और अर्पित गुप्ता) दोनों हे एक जाने-माने फोटोग्राफर है और समय समय पर नैनिका को प्रशिक्षण भी देते रहते है। नैनिका ने अपने माता-पिता के मदद से 3 डी तस्वीर को शूट किया। 3 डी तस्वीर बनाने के लिए दोनों कैमरों को एक जैसी सेटिंग्स में एक सात शूट किया जाता है तब डिजिटल इमैजिंग की मदद से दोनों तस्वीरों को मिलाकर कर लाल/स्यान रंग से कोडिंग की जाती है। पर नैनिका ने एक ही कैमरे से दो फ्रेम शूट कर के 3 डी इफ़ेक्ट वाली तस्वीर बना डाली। जब नैनिका अपने माता पिता के साथ प्रेसिडियम स्कूल में पेरेंट्स टीचर मीटिंग कर के घर आ रही थी तब नैनिका गाड़ी में पानी पिने के लिए रुकी तब उनके पिता जी की नज़र एक पुतले पर पड़ी जो की एक फिटनेस क्लब के बहार था और नैनिका को अनुदेश दिया की इससे एक अच्छी 3 डी फोटोग्राफी हो सकती है, वहीं पे नैनिका ने चार से पांच फोटोज डी एस एल आर कमरे से क्लिक करना शुरू कर दी। घर आने पर जब नैनिका के माता पिता कंप्यूटर पे फोटोज़ देख रहे थे तब उनका लगा की यह दो फोटोज़ 3 डी के लिए उचित है, जब उस पर डिजिटल तकनीक अपनाई गयी तब वह यह देख कर हैरान रह गए। 
नैनिका दो साल की उम्र से फोटोग्राफी करती आरही है। वह जब फोटोग्राफी का प्रशिक्षण अपने माता पिता से लेती है तब वह काफी इंटरस्ट से सुनती है। नैनिका ने 3 डी तस्वीर इतनी कम उम्र में बना के एक नया इतिहास बना डाला। नैनिका की खींची हुई फोटोज की तीन सामूहिक फोटो प्रदर्शनी भी लग चुकी है। और नैनिका को काफी जगह सम्मानित भी किया जा चुका है।

Leave a Reply