कर्मयोगी स्वर्गीय नरेन्द्र मोहन की 83वीं जयंती सादगी और श्रद्धा पूर्वक मनाई गयी

राज्यसभा सांसद, दैनिक जागरण के पूर्व प्रधान संपादक, कवि, लेखक, पत्रकार स्वर्गीय श्री नरेन्द्र मोहन की 83 वीं जयंती आज अखिल भारतीय स्वतंत्र पत्रकार एवं लेखक संघ के राष्ट्रीय महासचिव दयानंद वत्स की अध्यक्षता में संघ के उत्तर पश्चिमी दिल्ली स्थित मुख्यालय बरवाला में सादगी और श्रद्धापूर्वक मनाई गयी।

श्री वत्स ने श्री नरेन्द्र मोहन के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें कृतज्ञ राष्ट्र की और से भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। अपने संबोधन में श्री वत्स ने कहा कि श्री नरेन्द्र मोहन का व्यकि्तत्व एवं कृतित्व एक महान कर्मयोगी का था। वह दूरदर्शी सोच रखते थे। हिंदी पत्रकारिता के प्रचार -प्रसार में उनका नाम स्वर्णाक्षरों में लिखा जाएगा। श्री वत्स ने कहा कि एक लेखक के रूप मे उनकी चारों कृतियां “धर्म और सांप्रदायिकता, आज की राजनीति और भ्रष्टाचार, भारतीय संस्कृति और हिंदुत्व” कालजयी है। वे एक सहृदय कवि, हंसमुख और सौम्य व्यक्तित्व के धनी लेखक थे।

Leave a Reply