पूर्व लोकसभाध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी का निधन संसदीय लोकतंत्र की अपूरणीय क्षति: दयानंद वत्स


अखिल भारतीय स्वतंत्र पत्रकार एवं लेखक संघ के राष्ट्रीय महासचिव दयानंद वत्स ने पूर्व लोकसभाध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए इसे संसदीय लोकतंत्र की अपूरणीय क्षति बताया है। श्री वत्स ने कहा कि दादा के नाम से लोकप्रिय सोमनाथ चटर्जी ने लोकसभा अध्यक्ष के रुप में संसदीय मर्यादाओं का बखूबी पालन करते हुए अपने दायित्वों का सफलतापूर्वक निर्वहन किया। उनका जीवन सादगीपूर्ण और प्रेरक था। वे सच्चे अर्थों में भारतीय जनमानस के प्रतिनिधि सांसद रहे। उनके निधन से जो रिक्तता आई है उसकी भरपाई असंभव है।

Leave a Reply