राष्ट्रकवि स्वर्गीय श्री रामधारी सिंह दिनकर की 110वीं जयंती की पूर्व संध्या पर संस्कृति और राष्ट्रवाद विषयक राष्ट्रीय परिचर्चा का आयोजन


अखिल भारतीय स्वतंत्र पत्रकार एवं.लेखक संघ एवं.नेशनल मीडिया नेटवर्क के संयुक्त तत्वावधान में आज संघ के राष्ट्रीय महासचिव दयानंद वत्स की अध्यक्षता में उत्तर पश्चिमी दिल्ली स्थित संघ के मुख्यालय रोहिणी सेक्टर-36 बरवाला में राष्ट्रकवि स्वर्गीय श्री रामधारी सिंह दिनकर की 110वीं जयंती की पूर्व संध्या पर संस्कृति और राष्ट्रवाद विषयक राष्ट्रीय परिचर्चा का आयोजन आयोजन किया गया। इस अवसर पर श्री दयानंद वत्स ने स्वर्गीय श्री रामधारी सिंह दिनकर के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें कृतज्ञ राष्ट्र की और से भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। अपने संबोधन में श्री वत्स ने कहा कि दिनकर भारतीय संस्कृति के सच्चे वाहक और राष्ट्रीय चेतना के मुखर कवि थे। उनकी रचनाओं में जहां देशप्रेम, ओज, विद्रोह, आक्रोश और क्रांति के स्वर उदघोषित हुआ हैं वहीं पर कोमल श्रृृंंगारिक भावनाओं की भी अभिव्यक्ति हुुुई है। श्री वत्स ने कहा कि दिनकर आधुनिक युग के सर्वश्रेष्ठतम कवि, लेखक और निबंधकार थे। आज की युवा पीढी को दिनकर के साहित्य को आत्मसात करना होगा तभी संस्कृति और राष्ट्रवाद का उन्नयन होगा।

Leave a Reply