दिल्ली देहात का चहुंमुखी विकास करना चाहते थे खुराना जी, बवाना में अदिति महाविद्यालय और पूठखुर्द में महर्षि वाल्मीकि अस्पताल खुराना जी की ही देन: दयानंद वत्स

अखिल भारतीय स्वतंत्र पत्रकार एवं लेखक संघ के राष्ट्रीय महामंत्री दयानंद वत्स ने दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री मदनलाल खुराना के निधन पर शोक जताया है। वत्स ने कहा कि दिल्ली के नवनिर्माण में उनकी महत्त्वपूर्ण भूमिका रही। उनके निधन से दिल्ली ने अपना विकास पुरुष खो दिया है। खुराना जी
दिल्ली देहात का चहुंमुखी विकास करना चाहते थे इसी कडी में उन्होने शिक्षा के क्षेत्र में बवाना में ग्रामीण क्षेत्र की लडकियों की उच्च शिक्षा के लिए अदिति महाविद्यालय की स्थापना कराई और पूठखुर्द में महर्षि वाल्मीकि अस्पताल खुराना जी की ही देन है। कार्यकारी पार्षद स्वास्थ्य के पद पर रहते हुए ही उन्होने ही सबसे पहले इस अस्पताल को बनाने की घोषणा की थी। वत्स ने कहा कि शेरे दिल्ली के.नाम से विख्यात खुराना जी एक समर्पित शिक्षक और कुशल राजनेता थे। खुराना जी ने ही मेरे संपादन में प्नकाशित नेशनल मीडिया नेटवर्क समाचारपत्र का.विमोचन भी किया था। उनका निधन दिल्ली देहात वासियों के लिए भी अपूरणीय क्षति है।

Leave a Reply