राष्ट्रीय दुग्ध दिवस पर श्वेत क्रांति के जनक डॉ. वर्गीज कुरियन को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित


आदर्श ग्रामीण समाज दिल्ली एवं अखिल भारतीय स्वतंत्र पत्रकार एवं लेखक संघ के संयुक्त तत्वावधान में आज संघ के राष्ट्रीय महासचिव दयानंद वत्स की अध्यक्षता में संघ के उत्तर पश्चिम दिल्ली स्थित मुख्यालय बरवाला में सहकारिता आंदोलन के शिखर पुरुष डॉ. वर्गीज कुरियन की 97वीं जयंती राष्ट्रीय दुग्ध दिवस के रुप में सादगी और श्रद्धा पूर्वक मनाई गई। श्री दयानंद वत्स ने डॉ. कुरियन के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें कृतज्ञ राष्ट्र की ओर से अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि की। अपने संबोधन में श्री वत्स ने कहा कि डॉ. वर्गीज कुरियन भारत में श्वेत क्रांति के जनक थे।

उन्होंने भारत में डेयरी उद्योग की स्थापना कर लाखों कृषि आधारित लोगों को रोजगार के अवसर प्रदान किए। दुग्ध उत्पादन में आज भारत की आत्मनिर्भरता का श्रेय डॉ. कुरियन को ही जाता है। उनका सादगी भरा व्यक्तित्व ओर कर्मप्रधान कृतित्व हमारी युवा पीढी के लिए हमेशा प्रेरणास्रोत बना रहेगा। आज उनके ही अथक संघर्षों की बदौलत अमूल दूध पीता है इंडिया।

Leave a Reply