हिमांशु जोशी का निधन साहित्यिक जगत की अपूरणीय क्षति: दयानंद. वत्स


अखिल भारतीय स्वतंत्र पत्रकार एवं लेखक संघ, नई दिल्ली के राष्ट्रीय महामंत्री दयानंद वत्स ने वरिष्ठ लेखक हिमांशु जोशी के निधन पर गहरा शोक जताते हुए इसे साहित्यिक जगत की अपूरणीय क्षति बताया है। वत्स ने हिमांशु जोशी को अपने श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए कहा कि संघर्षों में तपकर कुंदन बने जोशी ने हिंदी साहित्य की सभी विधाओं को पुष्पित और पल्लवित किया। वे मानवीय संवेदनाओं के कवि, उपन्यासकार और कथाकार थे। बाल साहित्यकार के रुप में भी उनका महत्वपूर्ण योगदान रहा। मृदुभाषी हिमांशु जोशी का समूचा साहित्य जीवन की कडुवी सच्चाइयों का जीवंत आईना है।

Leave a Reply