चरित्र अभिनेता ओमप्रकाश हिंदी सिनेमा के कोहिनूर थे: दयानंद वत्स

अखिल भारतीय स्वतंत्र पत्रकार एवं लेखक संघ के राष्ट्रीय महासचिव दयानंद वत्स की अध्यक्षता में आज संघ के मुख्यालय बरवाला में हिंदी फिल्मों के मशहूर चरित्र अभिनेता स्वर्गीय ओमप्रकाश की 98वीं जयंती सादगी ओर श्रद्धा पूर्वक मनाई गई। श्री वत्स ने श्री ओमप्रकाश के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें उनके करोड़ों प्रशंसकों की ओर से अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किए।अपने संबोधन में श्री दयानंद वत्स ने कहा कि ओमप्रकाश ने चरित्र अभिनेता के रूप में दर्शकों को खूब हंसाया, रुलाया ओर गुदगुदाया। उन्होनें लगभग तीन सौ फिल्मों में काम किया ओर अपने हर रोल मेंदर्शकों का दिल जीता। अपने जमाने में वे फिल्म के हीरो से भी अधिक लोकप्रिय रहे। उन्होने अशोककुमार से लेकर अमिताभ बच्चन तक इंडस्ट्री के लगभग सभी कलाकारों, निर्देशकों के साथ काम किया। दस लाख, पडोसन, शराबी, साधु ओर शैतान, गोपी,  खानदान जैसी सैंकडों फिल्मों में अपने अभिनय के जौहर.दिखलाए। वे बेहद मिलनसार, जिंदादिल, मृदुभाषी और सौम्य व्यक्तित्व के धनी कलाकार थे। श्री वत्स ने कहा कि ओमप्रकाश सचमुच हिंदी फिल्मों के.कोहीनूर थे।

Leave a Reply