सबको हंसाने वाला रुलाकर चला गया, बहुमुखी प्रतिभा के धनी कादर खान का निधन फिल्मोद्योग की अपूरणीय क्षति: दयानंद वत्स

अखिल भारतीय स्वतंत्र पत्रकार एवं लेखक संघ एवं नेशनल मीडिया नेटवर्क के राष्ट्रीय अध्यक्ष दयानंद वत्स ने हिंदी फिल्मों के स्टोरी राइटर और मशहूर संवाद लेखक, चरित्र अभिनेता, खलनायक, कॉमेडियन कादर खान के आकस्मिक निधन पर गहरा शोक जताते हुए उनके निधन को फिल्मोद्योग की अपूरणीय क्षति बताया है। वत्स ने कहा कि कादर खान बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे। अपनी फिल्मों से सबको हंसाने, गुदगुदाने वाला आज सबको रुलाकर चला गया। तीन सौ से ज्यादा फिल्मों के लिए काम कर चुके कादर खान फिल्म इंडस्ट्री की जान थे। कादर खान ने अपनी कलम से सुपर स्टार  राजेश खन्ना, अमिताभ बच्चन, जीतेंद्र, गोविंदा को नई उंचाइयों पर पहुंचाया। वहीं दिग्गज निर्माता, निर्देशक प्रकाश मेहरा, मनमोहन देसाई से लेकर डेविड धवन और दक्षिण भारत के निर्माता. निर्देशक टी. रामाराव, डी, रामानायडू, के. बापैय्या, के. राघवेंद्र राव, दसारी नारायण राव की फिल्मों में संवाद लेखन और अभिनय के जौहर दिखाए। उनकी आवाज उनकी यू.एस.पी थी। हर रोल में कादर खान ने अपना लोहा मनवाया। आज कादर खान जो सबको हंसाता था वह अब सबको रुला कर चला गया।

Leave a Reply