मोदी सरकार के बजट में दिखा सबका साथ, सबका विकास – रूबी फोगाट यादव

केंद्र की मोदी सरकार ने जो अबतक वायदे किये थे, वो एक-एक कर पूरा करने का काम किया है। मोदी सरकार की अंतरिम बजट-2019 में देश के हर वर्गों का ख्याल रखते हुए कई जनकल्याणकारी योजनाओं की भी घोषणा की गई। इस बजट से खेतिहर किसान, युवा, महिलाऐं, मध्यमवर्गीय परिवार, व्यापारी, खुदरा विक्रेता, भारतीय अर्थव्यवस्था समेत चहुंओर सरकार की नीतियों का असर देखने को मिलेगा। विगत 5 वर्षों में मोदी सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों को आशातीत उन्नति तक पहुँचाया है। जहाँ एक तरफ पिछले 70 सालों से देश के कई गाँव बिजली, पानी, शिक्षा व स्वास्थ्य जैसी मूलभूत समस्याओं से जूझ रहा था, आज वो सभी क्षेत्र मोदी सरकार में सम्पूर्ण खुशहाली का पर्याय बन चुका है। सौभाग्य योजना, आयुष्मान भारत, मातृत्व वंदना योजना, ग्रामीण सड़क योजना, जनधन योजना, उजाला योजना, उज्ज्वला योजना, सुकन्या समृद्धि योजनाएं जैसी तमाम योजनाएं आज देश की तस्वीर को बदलने का काम कर रही है। आईआईएम, आईआईटी, व एम्स जैसी उच्च शैक्षणिक संस्थाओं की लगातार बढ़ रही संख्याएं युवा वर्गों में अद्भुत प्रतिभा का संचार कर रही है। प्रतिदिन 27 कि.मी. के औसत से सड़क निर्माण आज देश में आवागमन व व्यापारी गतिविधियों को नई दिशा दे रहे हैं। भाई-भतीजावाद, जातिवाद, क्षेत्रवाद व कुत्सित विचारधारा वाली राजनीतिक गतिविधियों पर मोदी सरकार ने जमकर प्रहार किया, जिससे भ्र्ष्टाचार, आतंकवाद व अन्य आपराधिक घटनाएं न्यूनतम देखी जा रही है। आप सोच सकते हैं कि जो सरकार महज़ 5 वर्षों की अल्पावधि में देश को वैश्विक स्तर तक पहुँचाने का माद्दा रखती हो, अगर उस सरकार को हम फिर से देश की बागडोर सँभालने का आदेश दें तो अवश्य ही समाज में खड़े अंतिम पंक्ति के व्यक्ति को स्वाभिमान से जीने का हक़ मिल सकेगा।

Leave a Reply