आरजेएस ने वायु प्रदूषण दूर करने के उपायों पर वर्कशॉप आयोजित की

स्वतंत्रता सेनानी और क्रांतिकारी पत्रकार गणेश शंकर विद्यार्थी की पुण्यतिथि ‌25 मार्च को RJS सकारात्मक मीडिया कार्यशाला में श्रद्धांजलि दी गई। आरजेएस राष्ट्रीय संयोजक उदय कुमार मन्ना ने कहा कि 22 राज्यों में  सकारात्मक भारत मिशन के तहत सकारात्मक बैठको, वर्कशॉप्स और पत्रकारिता से स्वचछ पर्यावरण के लिए भीसार्थक पत्रकारिता शुरू की जा रही है।

वर्कशॉप के मुख्य वक्ता और गेल इंडिया के मुख्य प्रबंधक रूपेश कुमार ने कहा कि सकारात्मक पत्रकारिता से  गणेश शंकर विद्यार्थी लगातार ब्रिटिश सरकार की मनमानी को उजागर करते रहे और कलम को सुधार का हथियार बनाया। आज भी अगर सकारात्मक पत्रकारिता से देश की प्रदूषित आबोहवा को स्वचछ करने के लिए पत्रकार आगे आएं तो  देशवासियों में तेजी से  जागरूकता आएगी। इस दिशा में 22 राज्यों की टीम आरजेएस पाॅजिटिव मीडिया का आना ये शुभ संकेत है।

वर्कशॉप का आयोजन टाटा नगर झारखंड के आरजेएस एडमिन राम सिंह ने दिल्ली विश्वविद्यालय के पूर्व एसोसिएट प्रोफेसर अनिल मिश्रा के सानिध्य में आयोजित की। श्री मिश्रा ने कहा कि  व्यक्तिगत , सामूहिक या ग्रुप द्वारा हस्तक्षेप करके प्रदूषित हवा की समस्या से ‌निजात पाई जा सकती है।वहीं दूसरे वक्ता आरजेएस स्टार और गांधी मार्ग के प्रबंध संपादक मनोज झा ने वायु प्रदूषण दूर करने के अपने व्यावहारिक सफल प्रयोगों के बारे में मीडिया को बताया। उन्होंने कहा कि एक पत्र  और  संबंधित विभाग से संपर्क करके जब वायु प्रदूषण की समस्या का मैं समाधान कर पाया तो सकारात्मक पत्रकारिता से देश में स्वच्छ आबोहवा लाई जा सकती है।

वर्कशॉप के मुख्य वक्ता रूपेश कुमार ने कहा कि इस दिशा में गेल इंडिया  ने दो साल से हवा बदलो अभियान के माध्यम से आनेवाले ‌कल को हरित एवं‌ स्वच्छ बनाने के लिए लोगों की सोच में बदलाव लाने और जागरूकता बढ़ाने के लिए प्रयासरत है। आरजेएस पाॅजिटिव मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए श्री रूपेश कुमार ने बताया किये हवा बदलो अभियान हवा की गिरती गुणवत्ता मैं सुधार लाने की दिशा में एक सामूहिक प्रयास है ,जो लोगों को पर्यावरण अनुकूल एवं सतत् विकास की स्थाई जीवन शैली वाली आदतें अपनाने के लिए प्रोत्साहित करता है- जैसे पेड़ लगाना, साइकिल चलाना और पैदल चलना, कार पुल का इस्तेमाल, परिवहन के सार्वजनिक साधनों का इस्तेमाल, ऊर्जा संरक्षण, ऊर्जा के स्वच्छ स्रोत जैसे उद्योगों के लिए प्राकृतिक गैस ,ऑटोमोबाइल के लिए CNG और कमर्शियल उपयोग के लिए  PNG का  इस्तेमाल आदि। हवा बदलो अभियान के अंतर्गत विभिन्न कार्यक्रम जैसे वृतचित्र फिल्मों का निर्माण, प्रतियोगिताओं ,राहगीरी और शपथ ग्रहण का आयोजन  करना।गेल इंडिया का ये अभियान भारतीय जनता को वायु प्रदूषण और इसके कारण होनेवाली समस्याओं को हल करने के लिए सक्रियता से कार्य करता रहा है। 

Leave a Reply