ऋषिता गुप्ता ने भारत 18वीं रैंक प्राप्त करके बनी आई.ए एस

इस वर्ष सिविल सेवा परीक्षा के घोषित परिणामों के शास्त्रीनगर निवासी कुमारी ऋषिता गुप्ता ने भारत 18वीं रैंक प्राप्त करके देश में दिल्ली का नाम रोशन कर दिया है। साधारण मध्यमवर्गीय परिवार में रहने वाली ऋषिता गुप्ता ने अपनी मेहनत और लगन से यह मुकाम हासिल करने में सफलता पायी है। ऋषिता के पिता प्रेम कुमार गुप्ता का स्वर्गवास हो चुका है.पिता का साया उठ जाने के के बाद ऋषिता ने ठान लिया था की वह पिताजी के सपने को आई ए एस बनकर जरूर पूरा करेगी। मूलतः कुतीना गांव अलवर राजस्थान निवासी दशकों से दिल्ली में रहते हैं। पिता का साया चले जाने के बाद उनकी शिक्षा का प्रबंध उनकी माताजी जी ने किया। ऋषिता बचपन से बहुत प्रतिभाशाली छात्रा रही। आपने महाराजा अग्रसेन आदर्श पब्लिक स्कूल प्रीतमपुरा 12 वीं तक शिक्षा ग्रहण इसके बाद अपनी ग्रेजुएशन दिल्ली विश्विद्यालय के प्रतिष्ठित कालेज किरोड़ीमल से बी ए इंग्लीश (हॉनर्स) प्रथम श्रेणी किया है।  अब युवा  ऋषिता गुप्ता  महिलाओं,गरीब बच्चों की शिक्षा और रोजगार के लिए कुछ करना चाहती है जो अब वह प्रशासनिक अधिकारी बनकर कर सकेंगी।  ऋषिता गुप्ता  की सफलता पर परिजनों और स्कूल के साथ साथ कालेज के अध्यापकों के अपनी शुभकामनाएं दीं हैं। 

अशोक कुमार निर्भय 
मीडिया सलाहकार एवं लेखक    


Leave a Reply