स्वच्छ और स्वस्थ दिल्ली हेतु सामूहिक राजयोग साधना हुई

प्रजापिता ब्रह्मा कुमारि ईश्वरीय विश्वविद्यालय द्वारा “राजयोग से मेरी दिल्ली स्वच्छ और स्वस्थ दिल्ली” संकल्प के ऊपर आयोजित मासिक सामूहिक योग का कार्यक्रम स्थानीय पीतमपुरा स्थित क्रिशेंट पब्लिक स्कूल मैदान में आज प्रातः काल सम्पर्ण हुआ ।

लगभग  तीन हज़ार एकत्रित सफेद वस्त्रधारी योग प्रेमियोँ  ने लगातार तीन घंटे तक राजयोग की साधना की। दिल्ली तथा आसपास के वायुमंडल और वातावरण को शुद्ध, स्वच्छ और स्वस्थ करने हेतु आध्यात्मिक चिंतन द्वारा सभी प्राणी और प्रकृति केलिए आत्मिक शांति, शक्ति, प्रेम, पवित्रता एवं सदभावना की सकारत्मक प्रकंपन फेलाए।  योगासन और प्राणायाम भी की ।
साधना के उपरांत जन समूह को संबोधित करते हुए कार्यक्रम के मुख्य संयोजिका राजयोगिनी बी के आशा ने कहा, “वाह्य वातावरण और पर्यावरण को स्वच्छ, स्वस्थ और हराभरा बनाने हेतु मूलतः स्वच्छ मानसिकता, साफ नियत, संतुलित जीवन शैली और  संकल्प की प्रतिबद्धता चाहिए । किउंकि वाह्य पर्यावरण  हमारे आंतरिक  वातावरण का ही परिप्रकास ओर प्रतिफलन है”।

उनोहने कहा कि राजयोग ही ऐसा एक सरल, सहज, स्वाभाविक  और सकारात्मक चिंतन प्रक्रिया है, जिससे न केवल मनुष्यों के सोच, विचार और कर्म व्यवहार स्वस्थ, संतुलित और सुखदायी होतें है, अपितु सामूहिक एवं संगठित रूप में की गई राजयोग प्राणीजगत, पर्यावरण और जलवायु के ऊपर स्वस्थ, स्वच्छ एवं सकारात्मक प्रभाव डालतें हैं ।

पिछले कई दशकों से नियमित और संगठित रूप से दिल्ली तथा देश विदेश में की जा रही इस सामूहिक राजयोग की महत्व के ऊपर बताते हुए ब्रह्मा कुमारी संस्था के मुख्य प्रवक्ता राजयोगी बी के बृजमोहन ने कहा कि इस सहज राजयोग को सांसारिक कर्म करते हुए भी किया जा सकता है, जिससे की न केवल कर्म में कुशलता और सफलता प्राप्त होती है, अपितु लोगों में सर्वांगीण स्वास्थ्य तथा समाज और प्रकृति में सम्पूर्ण स्वछता, संतुलनता और  समरसता की पुनःस्थापना हो सकती है ।

Leave a Reply