बुद्ध पूर्णिमा पर मध्य प्रदेश में आरजेएस की 63वीं सकारात्मक बैठक में प्रतिभाओं का हुआ सम्मान.

22  राज्यों से जुड़े पत्रकारों और समाजसेवियों ने भारत को सकारात्मक बनाने के लिए कमर कस ली है और  देश के विभिन्न राज्यों में 30 लघु बैठकों और  63 सकारात्मक बैठकों में सौ से ज्यादा महापुरुषों को श्रद्धांजलि देकर उनके बताए सकारात्मक आदर्शों  पर चलने का प्रण भी ले लिया है।

बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर राम-जानकी संस्थान , आरजेएस की 63 वीं बैठक का आयोजन वरिष्ठ पत्रकार आशीष पाण्डेय ने मध्य प्रदेश, सिताखोह के पंचायत भवन में आयोजित की।यहां भगवान बुद्ध, सरदार पटेल और डा.आंबेडकर और चार स्थानीय सकारात्मक व्यक्तित्व स्व०औखाराम राहंगडाले जी स्थाई पटेल(प्रधान),स्वo दशरत भंडारी जी, स्व०आनंदराव कोल्हे‌ जी,स्व०सुखाराम पटेल जी को भावभीनी श्रद्धांजलि दी गई। क्षेत्र के प्रतिभाशाली विद्यार्थियों का मनोबल बढ़ाने के लिए प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। 

आरजेएस राष्ट्रीय संयोजक उदय कुमार मन्ना का संबोधन बैठक में सुनाया गया। श्री मन्ना ने आयोजक आशीष पाण्डेय की सराहना करते हुए कहा कि बुद्ध का जीवन ही सकारात्मक संदेश है।बैठक में महापुरुषों को श्रद्धांजलि देकर उनपर चर्चा करने से इलाके में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह भविष्य के लिए एक सुखद संदेश है। विद्यार्थियों और वरिष्ठ नागरिकों की भागीदारी क्षेत्र में सकारात्मकता बढ़ाएगी। उन्होंने 24 मई से बैठक के तृतीय श्रृंखला और 26 मई को डा. नरेंद्र टटेसर के रोहतक में होनेवाली बैठक का भी जिक्र किया।बैठक के आयोजक  रियल मीडिया फाउंडेशन मध्य प्रदेश के अध्यक्ष आशीष पाण्डेय ने कहा कि नई पीढ़ी में सकारात्मकता को गांव गांव तक फैलाने के लिए जल्द ही सकारात्मक बैठकें आयोजित की जाएंगी और  प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को सम्मानित करने का सिलसिला जारी रहेगा।बैठक में शामिल अतिथि रहे पन्नालाल रहंडाले, पुरण सिंह रहंडाले,रमेश पाटले, भूपेंद्र देशमुख,शामरव नागदेव,प्रकाश वासनिक औरतिलक चौकसे आदि।10वीं और 12 वीं के विद्यार्थियों को सम्मान मिलने से उनमें उत्साह और उमंग साफ साफ दिख रहा था।बैठक में आए लोगों को सकारात्मक भारत का सपना सफल होता दिख रहा था और सभी ने इसे अपनी शुभकामनाएं दी ।

Leave a Reply