31वीं पुण्यतिथि पर अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त महान अभिनेता राजकपूर को श्रद्धा सुमन अर्पित।

अखिल भारतीय स्वतंत्र पत्रकार एवं लेखक संघ एवं नेशनल मीडिया नेटवर्क फिल्म एंड टीवी फॉउंडेशन ट्रस्ट के संयुक्त तत्वावधान में आज उत्तर पश्चिम दिल्ली स्थित ट्रस्ट के मुख्यालय बरवाला में हिंदी फिल्र्मों के महान अभिनेता स्वर्गीय राजकपूर की 31वीं पुण्यतिथि संघ के राष्ट्रीय महासचिव एवं रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (ए) दिल्ली प्रदेश उपाध्यक्ष एवं प्रवक्ता दयानंद वत्स की अध्यक्षता में सादगी और श्रद्धा से मनाई गई। वत्स ने राजकपूर के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें उनके देश विदेश में बसे करोडों प्रशंसकों की और से अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर राजकपूर की फिल्म जिस देश में गंगा बहती है का प्रदर्शन भी किया गया। अपने संंबोधन में दयानंद वत्स ने कहा कि राजकपूर अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त बहुआयामी प्रतिभा के धनी अभिनेता, निर्माता और निर्देशक थे।  वे फिल्म निर्माण की सभी बारीकियों से परिचित थे।उनका व्यक्तित्व करिश्माई था। उनकी आवारा, अनाडी, बरसात, संगम को भला कोई कैसे भुला सकता है? राजकपूर एक बेहद संवेदनशील कलाकार थे। वह भी देश से गरीबी और भुखमरी, बेकारी भगाना चाहते थे। अपनी अधिकाश फिल्मों में राजकपूर ने साधारण से दिखने वाले गरीब, निरीह और लाचार व्यक्ति के मन की भावनाओं को जिया। इसीलिए उन्हें लोग प्यार से सपनों का सौदागर भी कहते थे। 

Leave a Reply